मछली के तेल से रखें अपनी सेहत का ख्याल

वैसे तो सर्दी अपने साथ ढेर सारी खुशियां लेकर आती है, लेकिन इस मौसम के लिए अतिरिक्त स्वास्थ्य संबंधी सावधानियां बरतने की भी जरूरत रहती है। ठंड के महीनों के दौरान, सर्दी और फ्लू जैसी बीमारियों होने का खतरा रहता है। ऐसे में इनसे बचने के लिए अपने आहार में भरपूर मात्रा में फायदेमंद वसा शामिल करना जरूरी होता है।

हेल्थकार्ट में पोषण विशेषज्ञ अवनि शर्मा ने कहते है ” कई सारे अध्ययनों के अनुसार मछली और इसके पोषक तत्व सर्दियों की सामान्य बीमारियों को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

मछली में पाए जाने वाले ओमेगा -3 फैटी एसिड न केवल पोषण का एक अच्छा स्रोत हैं, बल्कि यह परिसंचरण और अनुभूति जैसे जैविक कार्यों के सुधार में भी सहायता करते हैं। इस सर्दी में अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए गर्म कपड़े पहनें और अपने दैनिक आहार में मछली के तेल को जरूर शामिल करें”।

मछली के तेल का सेवन करने के कई फायदे हैं

मछली के तेल का सेवन करने के कई सारे फायदे होते है। विशेषज्ञ के अनुसार मछली के तेल में इकोसापेंटेनोइक एसिड (ईपीए) और डोकोसाहेक्सैनोइक एसिड (डीएचए) ओमेगा -3 फैटी एसिड हैं। ये वो तत्व है जो ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देते हैं और मस्तिष्क के स्वास्थ्य को फायदा पहुंचाते हैं।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ रवि के “एक अध्ययन के अनुसार अधिकांश व्यक्तियों में ईपीए और डीएचए स्तर इष्टतम से नीचे हैं। ऐसे में एक अनुमान के अनुसार कहा जाता कि स्वस्थ वयस्कों के लिए प्रत्येक दिन कम से कम 250-500 मिलीग्राम ईपीए और डीएचए, जबकि बच्चों को प्रति दिन 50-100 मिलीग्राम मात्रा की जरूरत है।

शिशुओं और बच्चों में अक्सर पर्याप्त ओमेगा -3 फैटी एसिड नहीं मिलने से शुष्क त्वचा, पतले नाखून जो फट जाते हैं, और बाल दोमुंहे हो सकते हैं। इस कमी को दूर करने के लिए मछली के तेल की खुराक लेना जरूरी होता है।

किस मछली के तेल का उपयोग करना चाहिए?

हमेशा शुद्ध की गई मछली के तेल की खुराक का सेवन करना ही उचित होता है। मछली के वसायुक्त ऊतक का उपयोग मछली का तेल प्राप्त करने के लिए किया जाता है। चूंकि महासागरों सहित हर जगह आज के समय मे अक्सर औद्योगिक कचरे से प्रदूषित होते हैं।

पारा, आर्सेनिक, कैडमियम और सीसा जैसी भारी धातुएं मछली के ऊतकों में जमा होने की संभावना हमेशा बनी रहती हैं और ऐसी मछलियों से उत्पादित तेल स्वास्थ्य को फायदा पहुचने के स्थान पर नुकसान पहुँचा सकती हैं। इसलिए यदि आप मछली के तेल के सप्लीमेंट्स की तलाश कर रहे हैं, तो सुनिश्चित करें कि यह अच्छी तरह से शुद्ध हो।

मछली के तेल के लाभ

●      पारा अक्सर मछली के तेल के लाभकारी प्रभावों को बड़ी मात्रा में नष्ट लर देता है। आमतौर पर पानी की आपूर्ति में पाए जाने वाले किसी भी प्रदूषक से मुक्त मछली का तेल अधिक लाभ प्राप्त करने में काफी बेहतर होता है।

●      अल्ट्रा रिफाइंड ओमेगा 3: शुद्ध किये गए तेल में अत्यधिक शुद्ध ओमेगा -3 उत्पन्न करने के लिए एंकोवी से आणविक रूप से क्षमता होती हैं। रिफाइंड तेल पारा से फ्री होता है। ओमेगा -3 फैटी एसिड का सबसे सक्रिय नेचरल भाग सर्वाधिक मात्रा में मछली के तेल में ही पाया जाता है।

●       कोलेस्ट्रॉल: मछली के तेल शरीर में स्वस्थ एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाते हैं जबकि ट्राइग्लिसराइड्स को 15-30 प्रतिशत तक कम करते हैं। छोटी खुराक का सेवन करने पर भी मछली के तेल ब्लड प्रेशर को कम करने के दिखाया है।

●       दिल के लिए फायदेमंद: पूरी दुनिया में सर्दियों के दौरान हृदय रोगों में वृद्धि देखी जाती है। हालांकि अगर अपने आहार में मछली के तेल की थोड़ी मात्रा को शामिल कर ली जाए तो इससे अपने दिल को स्वस्थ रख सकते हैं। अध्ययनों के अनुसार जो लोग मछली का सेवन करते हैं उन्हें हृदय रोग का खतरा कम होता है।

●       ओमेगा -3 पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड (पीयूएफए) हृदय रोग (सीवीडी के साथ-साथ घातक और गैर-घातक रोधगलन, स्ट्रोक, कोरोनरी धमनी रोग (सीएडी), और अचानक हृदय मृत्यु के जोखिम को कम करने के लिए पाए गए हैं।

●       इसके अलावा अच्छा स्वास्थ्य और कम से कम प्रतिकूल इसका प्रभाव पड़ता है।

●       अंगों के कार्य क्षमता को बढ़ाता है: मछली के तेल में ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है, जो मस्तिष्क के कार्य में सुधार करता है। यह आंखों की दृष्टि में भी सुधार करता है और अन्य सामान्य नेत्र रोगों के उपचार में सहायता करता है।

●      आंखों के लिए फ़ायदेमंद – मछली के तेल में मौजूद डीएचए आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करता है। डीएचए स्वाभाविक रूप से आंख के रेटिना में केंद्रित होता है (आंखों के अंदर एक परत जैसे जो ऊतक की रेखा बनाती है और लेंस द्वारा चीजो की देखने का काम करती है) और स्वस्थ रेटिना फ़ंक्शन को बढ़ावा देने के लिए सोचा जाता है।

●      त्वचा की बनावट में सुधार– हमारी त्वचा उम्र बढ़ने और बहुत अधिक धूप के संपर्क में आने से टैन हो जाती है, मछली के तेल की खुराक स्वस्थ त्वचा को मुलायम बनाए रखने में मदद करती है और त्वचा की बनावट में सुधार करने में मदद करती है।

●     अन्य लाभ: मछली के तेल के सेवन के अन्य लाभों में यह जोड़ों के दर्द, मांसपेशियों के पुनर्वास, त्वचा की चमक में सुधारता है और बालों के झड़ने से रोकने में मदद करता है। सर्दियों में त्वचा काफी ड्राई हो जाती है ऐसे में मछली का तेल त्वचा के लिए अच्छा होता है।

●   नियमित रूप से मछली के तेल के पूरक को लेने से इन समस्याओं को हल करने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा यह गठिया की बीमारी में सुबह होने वाले दर्द की परेशानी को कम करने में भी मददगार हो सकता है।

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.