Diabetes Symptoms: हाथों और उंगलियों पर नजर आने वाला ये लक्षण बढ़े हुए शुगर का है संकेत

मधुमेह के लक्षण ( Diabetes Symptoms in Hindi ) : –

आज दुनिया भर में डायबिटीज तेजी से बढ़ने वाली एक गंभीर समस्या बन गई है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ डायबिटीज को खतरनाक बीमारियों की श्रेणी में शामिल करते हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञ खतरनाक बीमारियों की श्रेणी में इसलिए शामिल करते हैं क्योंकि यह कई अन्य दूसरी बीमारियों के खतरे को बढ़ा देता है।

आमतौर पर डायबिटीज बीमारी जीवन शैली और आहार में गड़बड़ी की वजह से होता है। इसके अलावा जिन लोगों के परिवार में पहले से ही डायबिटीज से पीड़ित मरीज रहते हैं, उनमें भी डायबिटीज होने का खतरा रहता है। अर्थात डायबिटीज एक जेनेटिक बीमारी भी है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार डायबिटीज का सामान्य लक्षण (Diabetes Symptoms) रात में बार बार पेशाब आना, बहुत अधिक प्यास का लगना, वजन का तेज़ी से कम होना, हाथ पैर सुन्न हो जाना, हाथ पैर में झुनझुनी होना, बहुत अधिक थकान महसूस करना है।

 इसके अलावा शोधकर्ताओं का कहना है कि डायबिटीज के कुछ लक्षण (Diabetes Symptoms) हाथों और उंगलियों पर भी दिखाई देने लगते हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञ से डायबिटीज न्यूरोपैथी के नाम से जानते हैं।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार जिन लोगों में इस तरह के लक्षण दिखाई दें उन्हें अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इन लक्षणों को देखते ही सतर्क हो जाना चाहिए।

 क्या है न्यूरोपैथी डायबीटिक ( What is neuropathy diabetes in Hindi ) :-

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि डायबिटिक न्यूरोपैथी तंत्रिकाओं को छतिग्रस्त करता है। आमतौर पर इसमें पैरों और हाथों की उंगलियां प्रभावित होती हैं। मायो क्लीनिक की एक रिपोर्ट के अनुसार लगभग 50% रोगियों में हाथों एवं उंगलियों में न्यूरोपैथी डायबिटीज के लक्षण (Diabetes Symptoms) दिखाई देते हैं। इसके गंभीर लक्षण को मोनोन्यूरोपैथी भी कहा जाता है। पैरों के अलावा हाथों की अंगुलियों में इसमें काफी ज्यादा प्रभावित होती हैं।

मोनो न्यूरोपैथी के लक्षण ( Symptoms of mono neuropathy in Hindi ) :-

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार मोनो न्यूरोपैथी डायबिटीज में निम्नलिखित लक्षण देखे जाते हैं। इसमें हाथ पैर सुन होने के अलावा भी कुछ लक्षण होते हैं जिसके बारे में लोगों को विशेष ध्यान देने की जरूरत है। जैसे –

  • हाथों का कमजोर होने लगना
  • चेहरे पर एक तरह से लकवा जैसा होना
  •  आंखों के पीछे तेज दर्द होना
  •  आंखों में दोहरे दृष्टि की समस्या
  • फोकस करने में समस्या उत्पन्न होना
डायबिटीज के इन लक्षणों से रहें सचेत ( Be aware of these symptoms of diabetes in HIndi ) :-

इंग्लैंड के नेशनल हेल्थ सर्विस के विशेषज्ञों का कहना है कि डायबिटीज के लोग लेकर लोगों को सतर्कता बचाना जरूरी है। जिन लोगों को पहले से डायबिटीज का खतरा होने की संभावना अधिक है, उन लोगों को डायबिटीज के सभी लक्षणों (Diabetes Symptoms) के प्रति सतर्क रहना चाहिए।  कुछ समय के लिए वजन घटाने, अत्यधिक भूख लगने, घाव के आसानी से न भरने, धुंधला दिखने, जननांग के आसपास खुजली जैसा होने, अत्यधिक थकान लगने जैसी समस्याएं हो तो डॉक्टर से जल्द से जल्द जरूर संपर्क करे।

डायबिटीज को कंट्रोल कैसे करें ( How to control diabetes in Hindi ) :-

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि डायबिटीज को के जोखिम को समझने की जरूरत है। इससे बचाव किया जा सकता है। इसके लिए स्वस्थ आहार का सेवन करें और सक्रिय रूप से शारीरिक रूप से सक्रिय रहे।

धूम्रपान और शराब जैसी आदतों को धीरे-धीरे छोड़ने की कोशिश करें। क्योंकि यह आदतें समस्याओं को बढ़ाने का काम कर सकती हैं। डायबिटीज के मरीजों को चाहिए कि वह हमेशा लोग ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाली चीजों का ही सेवन करें तो बेहतर होगा।

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.