Healthy lifestyle : नए साल में स्वास्थ्य लाइफस्टाइल अपनाकर, करे साल की शुरुआत


साल 2021 की विदाई के बाद अब नए साल 2022 शुरुआत हो रही है। लोग नए साल की शुरुआत एक नई उम्मीद और नए उत्साह से करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। नया साल हर किसी के लिए सेहतमंद रहे, इसके लिए हेल्दी लाइफ़स्टाइल अपनाना समय की जरूरत बन गई है।

क्योंकि बीते सालों में कोरोनावायरस महामारी ने सबसे ज्यादा सेहत को नुकसान पहुंचाया है। अब लोग पहले से ज्यादा अपनी सेहत के प्रति सजग हो गए हैं। नए साल की शुरुआत के साथ ओमिक्रोन वैरीअंट के साथ तीसरी लहर का खतरा देश भर में मंडरा रहा है।

ऐसे में कोरोना वायरस के तीसरी लहर और अन्य बीमारियों से खुद को बचाने के लिए सतर्कता के साथ स्वस्थ जीवन शैली अपनाना बेहद जरूरी है। नए साल की शुरुआत आप इस तरह से करें कि आप स्वास्थ्य रहे और आप एक स्वस्थ जीवन जिये।


कोरोनावायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के खतरे के बीच एक चौंकाने वाला आंकड़ा सामने आया है। जिसमें इस बात का पता लगा है कि हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, कैंसर जैसी नॉनकम्युनिकेबल बीमारियों का भी खतरा बढ़ गया है।

इनके साथ ही टीबी, निमोनिया, लंग इन्फेक्शन और प्रदूषण जनित कई बीमारियों की वजह से लोगों की मृत्यु हो रही है। कहीं न कहीं इसका सीधा संबंध हमारे जीवन शैली से भी है।

ऐसे में नए साल की शुरुआत कुछ इस तरह करें कि एक हेल्दी जीवनशैली अपना सके। तभी इन बीमारियों से बचा जा सकता है। आइए जानते हैं कैसे और किन आदतों से करें नए साल की शुरुआत और रहें स्वस्थ।


हमारे देश में देखा जाता है कि ज्यादातर लोग ओरल हेल्थ पर उतना ध्यान नहीं देते हैं। जैसे कि दातों की सही से सफाई नहीं करते हैं। यहां तक कि मसूड़ों की सेहत, जीभ की सफाई मुंह, मुंह में मौजूद क्लॉट की सफाई पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है। लेकिन आगे चलकर यही समस्या गंभीर रूप धारण कर देती है और कई सारी बीमारियों का कारण बन जाती है।


इस तरह रखे आपने ओरल हेल्थ का ध्यान


दैनिक रूप से अपनाई जाने वाली छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखकर ओरल हेल्थ का ध्यान रखा जा सकता है और गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है। यह छोटी-छोटी बातें काफी काम की होती हैं। लेकिन लोग इन्हें नजरअंदाज कर देते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में –


दिन में दो बार ब्रश करें –


मुंह की सफाई बेहद जरूरी होती है। इसके लिए एक रूटीन को फॉलो करना बेहद जरूरी है। सभी को कम से कम 2 बार 3 मिनट तक ब्रश से अपने दांतो की सफाई करनी चाहिए। ध्यान रहे ब्रश करते वक्त दांत और मसूड़ों पर ब्रश को ज्यादा प्रेशर के साथ ब्रश न करें।

बल्कि हल्के प्रेशर के साथ गोल गोल घुमा कर ब्रश करें। इसके अलावा हर दिन ब्रश करने के साथ ही धीरे-धीरे मसूड़ों की मसाज भी जरूर करें। इससे मसूड़े मजबूत बन जाते हैं।

दांतो के बीच में फसने वाले खाने से कई बार कीटाणु पनपने लगते हैं। ऐसे में दातों में फंसे खाने को साफ करें। इसके लिए धागे से दांत की सफाई भी की जा सकती है।


फास्ट फूड से परहेज करें –


रेडी टू ईट फूड खाने में जितने सुविधाजनक होते हैं उतना ही हमारे मुंह की सेहत के लिए नुकसानदायक होते हैं। मीठा कोशिश करें कम से कम खाएं, कोल्डिंक से हो सके तो पूरी तरह से दूरी बना ले।

दूध और दूध से बनी चीजें, मछली, मांस आदि खाने के बाद ब्रश जरूर करें और अपने मुंह को अच्छी तरह से साफ रखें। खूब सारा पानी पिए और ताजी सब्जियां खाएं। इससे ओरल हेल्थ अच्छी रहती है।


तंबाकू से बनाएं दूरी –


तंबाकू हमारे स्वास्थ्य के साथ-साथ हमारे दांतो के लिए भी बहुत खराब होता है। इससे हमारे दांतो की रंगत भी खराब होने लगती है और मुंह का कैंसर होने का खतरा भी बना रहता है। ऐसे में धूम्रपान से दूरी बनाने की कोशिश करें। क्योंकि इनकी वजह से मसूड़ों की बीमारी, मुंह से दुर्गंध आने की समस्या, दांत पीला पड़ने की समस्या उत्पन्न हो जाती है।


डेंटिस्ट से संपर्क करें –


अगर आपको दांत और मसूड़े से जुड़ी किसी भी प्रकार की कोई समस्या है तो सबसे पहले इसे अपने डेंटिस्ट को जरूर दिखाएं। हमेशा अपने दांतो की रूटीन जांच कराते रहें। जिससे आपकी ओरल हेल्थ के बारे में पता चलता रहता है और इस तरह आप कई गंभीर बीमारियों से बच सकते हैं।

यह भी पढ़ें :

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.