Reduce Weight : इस तरह डेली रूटीन को फॉलो करें आसानी से वजन कम करे

आज लोग अपने बढ़ते वजन की वजह से अधिक परेशान रहते हैं। लेकिन उनकी सबसे बड़ी समस्या यह है कि वजन को कम करने के लिए उनके पास जिम जाने के लिए समय नहीं होता है।

ऐसे में अपने डेली रूटीन में कुछ आदतों को शामिल करके वजन को कम किया जा सकता है। आइए जानते हैं वजन को कम करने के लिए अपने डेली रूटीन में किन चीजों को शामिल करें?

गर्म नींबूपानी  –

सुबह उठते हैं एक बड़ा गिलास गर्म पानी में नींबू की कुछ बूंदों के साथ जरूर ले। यह आपके पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है और आपको दिन की शुरुआत करने के लिए एक नई ऊर्जा देता है।

नींबू पानी वजन को कम करने में भी बहुत मददगार है। स्वस्थ रहते हुए वजन कम करने के लिए रोजाना पर्याप्त व्यायाम करें और हर दिन व्यायाम करने के साथ गर्म पानी में नींबू की कुछ बूंदें मिलाकर जरूर सेवन करें।

मेडिटेशन करे

सुबह सुबह 10 से 15 मिनट मेडिटेशन करना रिलैक्स कर देता है। ध्यान करना जैसे कि मेडिटेशन हमारे मन के साथ-साथ हमारे शरीर के लिए भी बेहद महत्वपूर्ण है। यह हमारे मस्तिष्क में उत्पन्न हो रहे तनाव को भी कम करने में मदद करता है।

तनाव आज के समय में वजन बढ़ने का एक प्रमुख कारण है। ऐसे में मेडिटेशन करने से मन शांत रहता है और वजन को कम करने में मदद मिलती है। साथ ही यह हमारे निर्णय लेने की क्षमता को भी समय के साथ बेहतर करता है।

समय पर खाना खाए

खाना अर्थात भोजन हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। हर दिन समय पर खाना खाना बेहद जरूरी होता है। क्योंकि अगर भी बे समय खाना खाया जाता है तो इसका पूरा असर लीवर पर पड़ता है। अक्सर देखा जाता है कि बहुत सारे लोग आधी रात में खाना खाते हैं।

यह खाना लीवर पचा तो लेता है लेकिन कई बार खाने को पचाने में मुश्किल होती है। क्योंकि रात में ज्यादा खाना खाना लीवर पर दबाव डालता है। जिसकी वजह से खाने को पचाने के लिए लीवर को ज्यादा ऊर्जा की जरूरत पड़ती है।

आयुर्वेद में कहा गया है कि सूरज ढलने के साथ खाना खा लेना चाहिए। सूरज ढलने के बाद खाना नहीं खाना चाहिए। साथ ही आयुर्वेद में यह भी बताया गया है कि खाना बिना किसी डिस्ट्रेक्शन के धीरे-धीरे खाना चाहिए।

क्योंकि धीरे-धीरे खाना खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। क्योंकि ऐसे खाना जल्दी पच जाता है। वही जब देर में खाना खाया जाता है तो समस्या होने लगती है और वजन कम करने में मुश्किल होती है। यदि सही समय पर खाना खाया जाए और धीरे-धीरे खाना खाया जाए तो इससे वजन को नियंत्रित करने में काफी मदद मिलती है।

खाने का बनाए रूटीन

हमेशा खाना दिन में दो से तीन बार थोड़ा थोड़ा करके खाना चाहिए। इसके लिए एक रूटीन को जरूर फॉलो करें। उदाहरण के लिए सुबह 7 से 9 के बीच नाश्ता हर हाल में कर ले। दोपहर का भोजन 11 से 1 बजे या अधिकतम 2 के बीच किया जा सकता है।

इसके बाद रात का खाना 5:30 से 8 के बीच कर ले। इससे शरीर को ऊर्जा भी मिलती रहती है और समय पर खाना खाने से खाना समय से पच जाता है और वजन अधिक नहीं बढ़ता है।

मौसम के अनुसार खाना खाए

हमेशा खाना मौसम के अनुसार ही खाना चाहिए। गर्मी के मौसम में उन खाने को प्राथमिकता देना चाहिए जो शरीर को ऊर्जावान बनाने के साथ, ठंडा बनाए रखने में मदद करें। इसके लिए हाई कार्बोहाइड्रेट वाले फल तथा ताजी सब्जियों का सेवन किया जा सकता है।

वहीं पतझड़ और सर्दी के मौसम में ठंड से बचने के लिए उन खाने को खाएं जो ऊर्जावान बनाने के साथ शरीर को गर्म रखें। इसके लिए जड़ वाली सब्जियां, मेवा, बीज और पत्ते वाली सब्जियां खाई जा सकती है।

बसंत ऋतु में मिलने वाली चीजों को अपने आहार में शामिल किया जा सकता है। इसके लिए जामुन, हरी पत्तेदार सब्जियां और अंकुरित अनाज को अपने डाइट में शामिल कर सकते हैं।

जब स्थानीय भोजन किया जाता है तो शरीर को स्वाभाविक रूप से ही पोषक तत्वों की पूर्ति हो जाती है और इन्हें पचाने में भी मदद मिलती है और शरीर स्वस्थ रहता है और वजन भी नहीं बढ़ता।

इन चीजों को करें शामिल

आयुर्वेद में कहा गया है कि वजन को कम करने के लिए 6 स्वाद मीठा, खट्टा, नमक, तीखा, कड़वा, कसोला को अपने आहार में जरूर शामिल करें।

मीठा, खट्टा और नमकीन स्वाद प्राकृतिक होते हैं और इन्हें संतुलित करने के लिए तीखे, कड़वे और कसेल पदार्थों को अपने खाने में शामिल करें। लेकिन ध्यान रखें किसी भी चीज की अति न होने पाए। क्योंकि किसी भी पदार्थ की अति हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाती है।

खाना खाने के बाद टहले

अक्सर कहा जाता है कि खाना खाने के बाद थोड़ी देर जरूर टहले। इससे पाचन ठीक रहता है। रात को खाना खाने के बाद लोग अक्सर टहलते हैं। लेकिन सुबह और दोपहर का खाने के बाद भी टहलना चाहिए। इसके लिए मध्यम गति से 10 मिनट टहनना पर्याप्त है।

इसके बाद आप लेट सकते हैं। लेकिन खाना खाने के बाद तुरंत न लेटे। अगर आप 10 मिनट टहलने के बाद बाई करवट सोते हैं तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है और वजन को नियंत्रित करने में भी मदद मिलती है।

जल्दी सोये जल्दी उठे

स्वस्थ और अच्छी दिनचर्या के लिए कहा जाता है कि जल्दी सोये और जल्दी उठे। हमेशा कोशिश करें कि सूर्योदय की साथ सुबह उठ जाएं और रात में जल्दी सो जाएं। इससे हार्मोन संतुलित रहते हैं और हमारा शरीर भी सही ढंग से काम करता है। सोने से पहले अपने समय को जरूर निर्धारित कर ले।

हमेशा रात में 10 बजे से पहले बिस्तर पर चले जाए तो यह काफी बेहतर होता है। क्योंकि 7 से 9 घंटे की नींद सभी के लिए आवश्यक होती है। शरीर को डिटॉक्सिफाइड करने और अगले दिन के लिए रिसेट करने के लिए नींद बेहद जरूरी होती है।

यह भी पढ़ें :

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.