30 साल की उम्र के बाद अपनी डाइट में इन चीजों को करे जरूर शामिल

स्वस्थ शरीर ही हर वक्त इंसान कि हर जरूरत में काम आता है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए तरह-तरह के जतन करने पड़ते हैं। आहार एवं पोषण विशेषज्ञों के अनुसार शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में पोषण आहार का बहुत महत्व होता है।

आजकल लोगों को बुढ़ापे में होने वाली बीमारियाँ उम्र से पहले ही होने लगी है। इसका सबसे प्रमुख कारण गलत लाइफस्टाइल और खानपान का सही न होना है। खानपान सही न होने के चलते इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर होने लगता है, जोड़ों में दर्द होने लगता है।

हड्डियां कमजोर होने लगती हैं तथा दिल से जुड़ी बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है। यदि शरीर को सही पोषण नहीं मिलता है तो कम उम्र में ही शरीर में कई सारी बीमारियां पनप जाती हैं।

स्वस्थ रहने के लिए हर उम्र में पोषक आहार का सेवन करना बेहद जरूरी है। विशेषकर के 30 वर्ष और उससे अधिक आयु के महिला और और पुरुषों को अपनी सेहत के प्रति जागरूक होना चाहिए। क्योंकि तभी स्वस्थ रहा जा सकता है और बीमारियों से बचा जा सकता है।

बढ़ती उम्र के साथ स्वस्थ बने रखने के लिए खानपान का महत्वपूर्ण योगदान होता है। आज हम जानेंगे 30 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को किन चार चीजों का सेवन जरूर करना चाहिए।

सोयाबीन

सोयाबीन 30 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को अपने डाइट में सोयाबीन जरूर शामिल करना चाहिए। क्योंकि सोयाबीन में प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह मेटाबॉलिक सिस्टम को बेहतर बनाने का काम करता है।

सोयाबीन में पाए जाने वाले पोषक तत्व हड्डियों को मजबूत बनाने में मददगार होते हैं। 100 ग्राम सोयाबीन में औसत रूप से 36 ग्राम प्रोटीन की मात्रा होती है। जिन लोगों को शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है। उन्हें सोयाबीन का सेवन करना चाहिए। रोजाना सोयाबीन का सेवन करने से शरीर स्वस्थ रहता है और आवश्यक प्रोटीन की पूर्ति होती रहती है।

ब्रोकली

ब्रोकली सेहत का खजाना पाया जाता है। यह हमारे सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन, मिनरल्स जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। ब्रोकली का सेवन करने से नियमित तौर से प्रोटीन की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है।

ब्रोकली खाने से हड्डियां बीमारियों से दूर रहती है और मजबूत बनती है। ब्रोकली हमारी इम्यून सिस्टम के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। यह हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है जिससे हमारा शरीर रोगों के प्रति रोक प्रतिरक्षा प्रणाली विकसित करता है और बीमारियों से शरीर को बचाता है।

हरी मटर

सर्दियों के मौसम में हरी मटर का सेवन जरूर करें।  वैसे तो कहा जाता है कि पत्तेदार सब्जियों में काफी मात्रा में प्रोटीन, आयरन और मिनरल पाए जाते हैं। इन हरी पत्तियों में लोग पालक, बथुआ, सोया, मेथी जैसे हरी सब्जियों को शामिल करते हैं।

लेकिन हरी मटर भी प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। इसमें पालक से भी ज्यादा प्रोटीन पाया जाता है। हरी मटर में प्रोटीन के अलावा कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, जिंक, कॉपर, फास्फोरस जैसे पोषक तत्व भी होते हैं।

साथ ही हरी मटर में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो कि हमारे पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह हमारे इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करने का काम करता है।

मछली

 जो लोग मांसाहारी हैं उन्हें मछली का सेवन जरूर करना चाहिए। मछली में कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं। विशेष करके मछली में प्रोटीन पाया जाता है। यह हमारे शरीर में जरूरी हारमोंस को बनाने में काफी मददगार होता है।

मछली में पाया जाने वाला तत्व हमारे मस्तिष्क और हृदय को भी मजबूत करता है। ऐसे में मछली का सेवन कई तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद है।

नोट इस पोस्ट में बताई गई जानकारी केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यहां पर किसी भी बीमारी का इलाज नहीं बताया गया है। किसी भी समस्या के लिए हमारी वेबसाइट जिम्मेदार नहीं है। सभी जानकारी की अपने स्तर पर पुष्टि कर ले। साथ ही किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्या होने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.