कई बीमारियों इलाज है यह घरेलू औषधि, डाइबिटीज के रोगियों के लिए भी है फायदेमंद

हमारे किचन में ऐसी कई सारी औषधियों का प्रयोग हम करते हैं जो हमारे सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है। विशेषकर के किचन में इस्तेमाल होने वाले मसाले कई औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं कई सारे शोध से यह स्पष्ट हो गया है कि किचन में इस्तेमाल होने वाले मसाले में विभिन्न प्रकार के औषधि गुण पाए जाते हैं, जिनका इस्तेमाल घरेलू उपचार के तौर पर किया जा सकता है।

घर में इस्तेमाल होने वाला मसाला सौंफ भी औषधीय गुणों से भरपूर होता है। दादी नानी के कई घरेलू नुस्खों में सौंफ का इस्तेमाल किया जाता है। अक्सर हमने देखा है कि बहुत सारे लोग खाना खाने के बाद सौंफ खाते हैं।

कई जगह पर खाना खाने के बाद सौंफ देने का प्रचलन है। इसके पीछे वजह है कि सौंफ में कई औषधीय गुण भी पाए जाते हैं। जैसे सौंफ खाने से पाचन ठीक रहता है और पेट से जुड़ी कई बीमारियां भी दूर रहती हैं।

सौंफ के बीज में विभिन्न प्रकार के खनिज पाए जाते हैं। यह हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों से लेकर डायबिटीज के मरीजों तक के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। सौंफ का सेवन करने से ब्लड में ब्लड शुगर नहीं बढ़ता है।

ऐसे में यह डायबिटीज के रोगियों के लिए भी बहुत फायदेमंद है। आज हम जानेंगे सौंफ का सेवन करने से किस प्रकार के फायदे होते हैं?

पेट से जुड़ी समस्याओं के लिए रामबाण इलाज है सौंफ

सौंफ का सेवन करने से पेट की सूजन तथा पाचन से जुड़ी समस्याओं को ठीक करने में मददगार है। गर्मियों के मौसम में सौंफ की ठंडाई पेट को ठंडा रखने में मदद करती है। साथ ही पेट फूलने और अपच जैसी समस्याओं में भी फायदा पहुंचाती है। कई शोध से यह पता चला है कि सौंफ में एनथोल, फेनचोन और एस्ट्रैगोल जैसे तत्व पाए जाते हैं।

इन तत्वों को anti-inflammatory तथा एंटीस्पास्मोडिक गुण के लिए भी जाना जाता है। यह तत्व पाचन तंत्र को मजबूत करने का काम करते हैं। इसलिए पांचन शक्ति को बेहतर करने के लिए खाना खाने के बाद एक चुटकी सौंफ का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है।

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मददगार

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों के पास तरह-तरह की टेंशन होती है। ऐसे में बहुत सारे लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है। इन लोगों के लिए सौंफ का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है।

जनरल ऑफ फूड साइंस में एक शोध प्रकाशित किया गया है। जिसमें कहा गया है कि सौंफ को चबाने से लार में नाइट्रस का स्तर बढ़ता है। यह एक प्राकृतिक तत्व है जो नेचुरल तरीके से हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने में मदद करता है।

इसके अलावा सौंफ में पोटेशियम भी पाया जाता है। ऐसे में हाई ब्लड प्रेशर और हृदय रोग के मरीजों के लिए सौंफ का सेवन करना बहुत फायदेमंद है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

सालों से सौंफ का इस्तेमाल औषधि के रूप में होता रहा है। सौंफ के पानी को चेहरे पर लगाने से लेकर सौंफ का पेस्ट चेहरे पर लगाने तक कई सारे तरीके से सौंफ को चेहरे के लिए प्रयोग में लाया जाता रहा है।

सौंफ का सेवन करने से ब्लड सरकुलेशन में ऑक्सीजन का संतुलन बना रहता है तथा हार्मोन को भी संतुलित करने में मदद मिलती है। सौंफ त्वचा को ठंडा करने और अच्छा प्रभाव डालकर त्वचा को स्वस्थ रखता है। तथा त्वचा को चमकदार बनाने में भी मदद करता है।

स्तनपान करने वाली महिलाओं के लिए है फायदे

स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सौंफ का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि सौंफ मे गैलेक्टोजेनिक गुण पाए जाते हैं। जिससे यह दूध का उत्पादन बढ़ाता है। यह शरीर में हार्मोन को स्तन में दूध उत्पन्न करने का संकेत देने का काम करता है। यही वजह है कि प्रसव के बाद स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सौंफ का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

नोट इस पोस्ट में बताई गई जानकारी केवल सामान्य जागरूकता के उद्देश्य से मनाई गई है। यह किसी भी बीमारी का इलाज नहीं है। स्वास्थ्य से जुड़ी किसी भी समस्या के लिए अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.