घुटनों में अक्सर रहने वाला दर्द इन पांच बीमारियों का हो सकता है लक्षण

उम्र बढ़ने के साथ शरीर से जुड़ी समस्याएं बढ़ने लगती है। जिसमें से एक सबसे आम समस्या है घुटने का दर्द। घुटने का दर्द आम समस्या भले ही समझा जाता है लेकिन यह कई बीमारियों के लक्षण भी हो सकता है।

अगर आपको भी घुटने में तेज दर्द होता है तो आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत हो जाना चाहिए और जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर को संपर्क करें। अक्सर देखा जाता है कि घुटने का दर्द 40 वर्ष की उम्र के बाद तेजी से बढ़ता है।

इसी के बाद शरीर में बीमारियां बढ़ने लगती है और यह घुटने के दर्द को और भी बढ़ाने का काम करती हैं। ज्यादातर लोग घुटने के दर्द को आम समस्या समझकर नजरअंदाज कर देते हैं।

पर घुटने में होने वाला यह दर्द आपके लिए परेशानी खड़ा कर सकता है। घुटने में दर्द के कई कारण हो सकते हैं। जिसमें से एक कारण अर्थराइटिस है। आज हम इसी के बारे में विस्तार से जानेंगे।

किन बीमारियों की वजह से होता है घुटने में दर्द?

घुटने में दर्द के साथ सूजन या गर्मी का एहसास, जोड़ों में नरमी जोड़ों में आंकड़न, थकान, बुखार आदि लक्षण आए तो सचेत हो जाने की जरूरत है। क्योंकि अगर यह लक्षण नजर आ रहे हैं तो इसका सीधा मतलब है आप घुटने की बीमारी से जूझ रहे हैं, और इसके पीछे यह 5 गंभीर बीमारियां जिम्मेदार हो सकते हैं।

1. विटामिन डी की कमी

जिन लोगों को कैल्शियम की कमी होती है अक्सर उन लोगों के घुटने में दर्द की समस्या रहती है। ऐसे में डेयरी प्रोडक्ट का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए और कुछ समय सूरज की रोशनी में रहना चाहिए। इससे हड्डियों को विटामिन डी मिल जाती है।

बता दें विटामिन डी का प्राकृतिक स्त्रोत सूरज की किरणें है। जिन लोगों के घुटने की हड्डी टूट जाती है उन्हें भी घुटने में दर्द की समस्या रहती है। कई बार इन लोगों को अर्थराइटिस की वजह से भी दर्द हो सकता है। शरीर में विटामिन डी की कमी का पता लगाने के लिए इसका टेस्ट करवाया जा सकता है।

2. हड्डी का ट्यूमर

हड्डी का ट्यूमर भी घुटने में दर्द का एक कारण हो सकता है। अगर आप हड्डी में होने वाला दर्द आप बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं तो हो सकता है आपकी हड्डी में ट्यूमर हो। इसके लिए जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से चेकअप करवाएं।

जो लोग खेल कूद जैसे गतिविधियों में लगे होते हैं या फिर अधीर एक्सरसाइज करते हैं उन्हें बर्साइटिस इसके कारण  घुटने में सूजन और दर्द की समस्या होती है। इसे नजरअंदाज करने से समस्या बढ़ने की संभावना रहती है।

3. अर्थराइटिस

जोड़ो और घुटने का दर्द अर्थराइटिस की वजह से भी होता है। अर्थराइटिस एक ऑटोइम्यून बीमारी है। जिसमें बाकी अंग भी धीरे-धीरे प्रभावित होने लगते हैं। इस बीमारी में शुरुआत में जोड़ों में दर्द होता है।

अर्थराइटिस कई प्रकार का होता है। जिसमें एक प्रकार घुटनों से जुड़ा हुआ है। कई बार गंभीर समस्या में मरीजों को घुटने का रिप्लेसमेंट या सर्जरी करवाना पड़ जाता है।

4. लिगामेंट में चोट

अगर लिगामेंट में चोट लगती है तब भी घुटने में दर्द की समस्या हो सकती है। वही जो लोग दिन भर बिस्तर पर लेटे रहने के आदी होते हैं उनको भी घुटने का दर्द हो सकता है। इन मरीजों को डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा के लक्षण भी होते हैं।

ऐसे में घुटने की इंजरी भी घुटने में दर्द की समस्या बढ़ जाती है। यह समस्या ज्यादातर उन लोगों में पाई जाती है जिनकी उम्र 40 वर्ष से अधिक होती है।

5. रीड की हड्डी से जुड़ी बीमारी

 डॉक्टरों का मानना है कि घुटने के दर्द को कभी भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। यह किसी भी बड़ी बीमारी का लक्षण भी होता है। कई बार लोग सोचते हैं कि घुटने में होने वाला दर्द की घुटने से जुड़ी बीमारी का लक्षण है लेकिन यह सच नहीं है।

अगर घुटने में दर्द हो रहा है तो यह रीड की हड्डी से जुड़ी बीमारी का भी कारण हो सकता है। कई बार गलत पोस्चर के कारण रीड की हड्डी पर जोर पड़ता है। जिसकी वजह से घुटने में दर्द की समस्या होती है, जो आगे चलकर किडनी और लीवर जैसे अंगों को भी प्रभावित करने लगता है।

नोट : इस post बताई गई बाते केवल सामान्य जानकारी के लिये है। किसी भी प्रकार की समस्या के लिये अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले।

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.