महिलाओं को कमजोरी से बचने और स्वस्थ रहने के लिए इन Vitamins का सेवन करना है जरूरी

महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं। व्यस्त दिनचर्या और सही ढंग से खानपान न होने की वजह से शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति नहीं हो पाती है।

महिलाएं घर के कामों और परिवार की देखभाल में इतनी व्यस्त रहती है कि वे खुद पर ध्यान ही नही दे पाती है। अक्सर शरीर में जरूरी विटामिंस को लेकर महिलाओं में जागरूकता की कमी देखी जाती है।

उन्हें पता नहीं होता है कि उन्हें किस विटामिन की कितनी आवश्यकता होती है और किन चीजों के सेवन करने से यह विटामिन और पोषक तत्व प्राप्त किए जाते हैं।

आइए जानते हैं महिलाओं को स्वस्थ रहने के लिए और कमजोरी से बचने के लिए किस विटामिन का सेवन करना चाहिए –

विटामिन B12 :-

विटामिन B12 शरीर में तंत्रिका कोशिकाओं को सुचारु रूप से कार्य करने में मददगार होती है। यह शरीर में रेड ब्लड सेल्स (Red Blood Cells) को बनाने में मददगार होती है।

शरीर में ऊर्जा का स्तर बनाए रखने और याददाश्त बढ़ाने के लिए विटामिन B12 जरूरी होती है। हृदय संबंधी बीमारियों को दूर रखने के लिए भी विटामिन B12 का सेवन करना फायदेमंद है।

इसे अनाज और खमीर के सेवन से प्राप्त किया जा सकता है। विटामिन B12 का पर्याप्त मात्रा मे सेवन करने से दिल से जुड़ी बीमारियों से बचा जा सकता है।

बायोटिन :- 

बायोटिन हमारे शरीर के लिए एक जरूरी पोषक तत्व है। यह हमारे त्वचा और बालों को स्वस्थ बनाने का काम करता है।

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए इस पोषक तत्व की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। यह पोषक तत्व अंडा, बादाम, गोभी, पनीर, मशरूम, शकरकंद में पाया जाता है। बायोटिन की कमी होने पर इसका सीधा असर हमारी ताजा पर दिखाई देता है।

आयरन :-

आयरन मानव शरीर के लिए एक बेहद आवश्यक खनिज तत्व है। शरीर में पर्याप्त मात्रा में रेड ब्लड सेल्स (red blood cells) के निर्माण के लिए आयरन एक बेहद आवश्यक तत्व होता है।

रेड ब्लड सेल्स ही हमारे शरीर में एक अंग से दूसरे अंग तक ऊर्जा पहुंचाने और शरीर में ऊर्जा बनाए रखने में मददगार होती है।

पीरियड्स के कारण महिलाओं में आयरन की कमी हो जाती है। पर्याप्त मात्रा में आयरन का सेवन न करने से थकान जैसी समस्या देखने को मिलती है। आयरन के लिए पालक, फलियाँ,  कद्दू के बीज आदि का सेवन किया जा सकता है।

विटामिन डी :-

हड्डियों की मजबूती के लिए विटामिन डी बेहद जरूरी होती है। महिलाओं और वृद्धों में अक्सर ओस्टियोआर्थराइटिस जैसी बीमारियां देखने को मिलती है।

हड्डियों से जुड़ी बीमारियों से बचने के लिए विटामिन डी का सेवन करना जरूरी है। विटामिन डी शरीर में फास्फोरस और कैल्शियम के स्तर को बनाए रखने में मददगार होता है।

यह भी पढ़ें :- Cycling करने से वजन कम करने के साथ ही शारीरिक और मानसिक तनाव से मिलती है राहत

विटामिन डी के लिए पालक, भिंडी, सोयाबीन, अंडे की जर्दी, मशरुम आदि का सेवन करना फायदेमंद है।

इसके अलावा विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत सूर्य की किरणें मानी जाती हैं। इसलिए सुबह के समय थोड़ी देर धूप में बैठने से शरीर को विटामिन डी की पूर्ति हो जाती है।

कैल्शियम :-

कैल्शियम महिलाओं के शरीर के लिए एक आवश्यक तत्व है। यह हृदय मांसपेशियों नसों को ठीक ढंग से काम करने में मददगार होता है।

हमारे शरीर के रक्त में जमे हुए सबको को हल्का कर गाँठो को खोलने में मददगार है। शरीर मे कैल्शियम की कमी के कारण ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।

कैल्शियम की कमी होने से हड्डियों के टूटने और उनके क्रेक होने का खतरा रहता है। कैल्शियम की पूर्ति के लिए पनीर, दही वाली दाल, पत्तेदार हरी सब्जियां, दूध आदि का सेवन करना फायदेमंद होता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.