महिलाओं को स्वस्थ रहने के लिए अपने डाइट में इन चीजों को जरूर शामिल करना चाहिए

आधुनिक समय में सेहतमंद रहना एक चुनौती सा बन गया है। संतुलित आहार और नियमित वर्कआउट के जरिए ही सेहतमंद रहा जा सकता है।

हमारा भोजन हमे ऊर्जा तो देता ही है साथ ही हमारे शरीर के दैनिक कार्यों को भी बेहतर करने का काम करता है।

फल, सब्जियां, साबुत अनाज फलियां जैसे खाद्य पदार्थों से हमें विटामिन और खनिज पर्याप्त मात्रा में मिल जाते हैं।

यह हमारे शरीर को स्वस्थ और मजबूत बनाने में सहायक होते हैं। आयरन हमारे शरीर में ब्लड के लिए आवश्यक होता है, तो कैल्शियम हमारी हड्डियों को मजबूत करने का काम करता है और जींक हमारे इम्यून सिस्टम का निर्माण करता है, जिससे हम बीमारियों से बचे रहते हैं।

ऐसे में महिलाओं को हफ्ते डाइट पर विशेष ध्यान देना बेहद जरूरी होता है, क्योंकि सुबह से लेकर शाम तक घर और बाहर सारी भागदौड़ महिलाओं को ही करनी पड़ती है।

हार्मोन भी महिलाओं को सामने कई तरह की समस्याएं लेकर आते हैं। इसलिए महिलाओं को अपनी डाइट में इन चीजों को जरूर से शामिल करना चाहिए, जिसका उनके मानसिक और शारीरिक सेहत पर अच्छा असर पड़ता है।

पालक –

पालक में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं। पालक का सेवन करने से त्वचा और बालों को भी फायदा मिलता है।

पालक हमारे शरीर में पानी की कमी को दूर करता है, क्योंकि पालक में 90% पानी होता है। पालक में ल्युटिन, पोटैशियम, फाइबर, फॉलेट, विटामिन ई तत्व जैसे तत्व भरपूर मात्रा में होता है।

यह भी पढ़ें :- वजन कम करने में इमली का सेवन है फायदेमंद

पालक की यह गुण इसको सुपर फूड बनाने का काम करते हैं। पालक मे इन तत्वों के अलावा मैग्नीशियम भी पाया जाता है जो पीएमएस के लक्षणों के प्रभाव को कम कर देता है।

पालक हमारी हड्डियों के लिए भी फायदेमंद होता है तथा डायबिटीज के मरीजों के लिए भी यह फायदेमंद है क्योंकि यह ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मददगार होता है, अस्थमा के मरीजों के लिए भी पालक फायदेमंद होता है। यह अस्थमा के खतरे को कम करता है।

अलसी –

अलसी में ओमेगा 3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होता है। यह हमारी आंखों की रेटिना को स्वस्थ बनाने में मददगार होता है। अलसी के बीजों का सेवन करने से आंखों को फायदा मिलता है।

यह हाई ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर में भी फायदेमंद है। इसमे anti-inflammatory गुण पाया जाता है और एडिटेबल बॉवेल सिंड्रोम के प्रभाव को कम करता है।

क्रैनबेरी –

क्रैनबेरी का सेवन करने से यूटीआई यानी कि यूरिनरी ट्रैक्ट इनफेक्शन की समस्या को दूर करता है। यह दाँतों की सड़क को भी दूर करने में मददगार होता है, इसे एनर्जी का पावर हाउस कहा जाता है।

टमाटर –

बहुत सारे लोग टमाटर के गुणों से परिचित नही होने की वजह से इसे हल्के में लेते हैं, लेकिन यह एक बेहद गुणकारी सब्जी है। इसमें लाइकोपीन नामक तत्व पाया जाता है जो कि स्तन कैंसर और दिल की बीमारियों के खतरे को कम करता है।

यह हमारी हड्डियों के लिए भी फायदेमंद होता है, यह हड्डियों को मजबूत बनाता है और हमारे शरीर के कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में भी मददगार होता है, जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है।

ओट्स –

ओट्स का सेवन हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनाने और हमारे दिल को स्वस्थ रखने में फायदेमंद होता है। यह ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करने में मदद करता है।

ओट्स का सेवन करने से पीएमएस की वजह से होने वाले मूड स्विंग की समस्या कम हो जाती है। इसमें अधिक मात्रा में फाइबर होता है जो कि हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम करता है।

फाइबर हमारे पाचन क्रिया को भी बेहतर बनाता है, इसलिए महिलाओं को ओट्स अपने डाइट में जरूर से शामिल करना चाहिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.