चिरायता के फायदे और नुकसान: जाने इसके अनसुने राज

जैसा की हम सबको पता है की आयुर्वेद हमारे देश की सबसे पुरानी चिकित्सक प्रणाली है और आयुर्वेद में बहुत से ऐसे गुण पाए जाते है जिससे बहुत से रोग बहुत जल्दी सही हो जाते है और चिरायता भी आयुर्वेद की एक औषधि है जिस पर आज हम चर्चा करने वाले है।

चिरायता क्या होता है ?

चिरायता खास तौर पर हिमालय में पाया जाता है जो की एक खास औषधि है, चिरायता का जिक्र आपको भारतीय, ब्रिटिश और अमेरिका की पुस्तकों में देखने को भी मिलता है इससे आपको पता चल गया होगा की चिरायता कितना लाभकारी है। चिरायता में कई प्रकार के बायोक्टिव कंपाउंड होते है जो शरीर को स्वस्थ्य करने में मदद करते है इस जड़ी बूटी का इस्तेमाल हम अपने शरीर के कई रोगों में करते है जैसे की बुखार, जुखाम, मधुमेह आदि।

चिरायता के लाभ ?

1: चिरायता से आप अपनी खासी, बुखार और जुखाम को ठीक कर सकते है, ये सारे रोग वायरल इंजेक्शन की वजह से ही होती है जिसके काट के लिए चिरायते में एंटी वायरल गुण पाए जाते है जिससे आपके ये रोग बहुत जल्दी ठीक हो जाते है और आपको बुखार, जुखाम और खासी जैसी समस्या से राहत मिल जाती है।

2: शरीर में रोग का जन्म का एक सबसे बड़ा कारण आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है जिसके लिए आप चिरायते का सेवन कर सकते है, चिरायते में मैग्निफेरिन बायोएक्टिव कंपाउंड पाया जाता है जिससे आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

3: चिरायता ब्लड शुगर लेवल को कम करने में लाभदायक हो सकता है, एन सीबी आई ने अपने एक शोध में बताया है की चिरायते में अमारोगेंटिन बायोएक्टिव कंपाउंड होता है। यह कंपाउंड होता है। यह कंपाउंड एंटी डायबिटिक प्रभाव दिखाता है, जो की आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में बहुत लाभ मिलता है।

4: चिरायता एक आयुर्वेदिक औषधि है जो की बहुत लाभकारी है और चिरायता आपके एनीमिया रोग को भी ठीक कर सकता है क्युकी चिरायते के पत्तियों में विटामिन और खनिज हेमाटिनिक गुण पाया जाता है जो की आपके शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाता है जिससे आप एनीमिया रोग का घरेलू उपचार कर सकते है।

5: कई सारे लोगो को लीवर से संबंधित समस्याएं होती है जो की जल्दी ठीक भी नही होती है और पीड़ा भी देती है ऐसे में चिरायता आपकी सहायता कर सकता है चिरायता में स्वेरचिरिन कंपाउंड पाया जाता है जो की आपके लीवर की क्षति को रोकता है और आपके लीवर को स्वास्थ्य रखने में भी मदद करता है।

6: कई सारे लोगो का पाचन तंत्र खराब रहता है जो की आपके शरीर के लिए लाभदायक नही है इसीलिए आप अपने पाचन तंत्र को अच्छा और स्वास्थ्य बनाने के लिए चिरायते का उपयोग कर सकते है, चिरायते में गैस्ट्रिक एंजाइम पाया जाता है जो की आपके पाचन को अच्छा बनाने में असरदार है।

7: मैं आपको पहले ही बताता हूं की अभी तक यह सिद्ध नही हो पाया है की चिरायते में ऐसा कौन सा गुण पाया जाता है जिससे यह शरीर में खून को साफ करता है किंतु यह देखा गया है की चिरायते का सेवन करने से आपके शरीर का खून साफ होता है जो की आपके शरीर को स्वथ्य रखने का एक अच्छा संकेत है।

चिरायता के नुकसान ?

1: जैसा की मेने आपको अपने लेख में बताया है की चिरायता आपके हाई ब्लड प्रेशर को ठीक करता है इसीलिए अगर आप रक्तचाप से परेशान है तो चिरायते से आपका रक्तचाप और कम हो सकता है।

2: इसका स्वाद बहुत कड़वा है जिससे आपके मुंह में सारा दिन कड़वाहट रह सकती है।

3: जिन लोगो को अक्सर पेट से जुड़ी समस्या रहती है उनके लिए चिरायता नुकसानकारी हो सकता है।

निष्कर्ष: –

आज मेने आपको अपने लेख की सहायता से यह बताया है की चिरायता क्या होता है ? चिरायता के लाभ क्या होते है ? चिरायता के नुकसान क्या होते है ? इन सब जानकारी से आपको समझ आ गया होगा की चिरायता आपके लिए किस प्रकार और कब कब फायदेमंद है।

लेखक : कुशाग्र मिश्रा

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.