इन चीजों को खाते समय रखे ध्यान नहीं तो सेहत पर पड़ सकता है बुरा सर

भोजन हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी होता है क्योंकि इसी से हमें ऊर्जा मिलती है। अच्छी सेहत के लिए हमें अपने जीवन में बहुत सारी चीजों को आहार के रूप में शामिल करना होता है।

कई बार हम उनका सेवन करते समय कुछ बातों का ध्यान नही रखते हैं क्योंकि हमें उनके बारे में जानकारी नही होती है, लेकिन खाने की बहुत सारी चीजें ऐसी  होते हैं, जिनमे ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जिनका हमारे सेहत पर बुरा असर पड़ता है।

इसलिए ऐसी चीजों को खाते समय ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है। आज हम जानेंगे कुछ ऐसी चीजों के बारे में जिन्हें खाते समय सतर्कता बरतना बेहद जरूरी है।

हरे और अंकुरित आलू ( Green and sprouted potatoes ) :-

बाजार में जब हम आलू लेने जाते हैं तो बहुत सारे आलू ऐसे होते हैं जिनमें हरे रंग के निशान होते हैं। कभी-कभी हम आलू के उस हरे हिस्से को निकाल देते हैं, लेकिन कभी-कभी हम इस पर ध्यान नही देते हैं।

जब ऐसे आलू को काफी दिनों तक रखा जाता है तो वह अंकुरित हो जाते हैं, खास करके ठंड के शुरुआत मे मिलने वाले आलू मे या तो अंकुर दिखाई पड़ते हैं या फिर नये होते हैं तो उसमें हरे निशान देखने को मिल जाते हैं।

अगर हम अंकुरित या हारे हरे आलू को खाने में उपयोग करते हैं, तो यह हमारी सेहत के लिए नुकसानदेह होता है।

क्योंकि हरे और अंकुरित आलू में ग्लाइकोसाइड नाम का एक विषाक्त पदार्थ पाया जाता है। हर आलू खाने से मितली, दस्त और सिरदर्द जैसी समस्याएं हो सकती है।

 कच्चे काजू ( Raw cashew nuts ) :-

बाजार में दुकानों पर पैकेट में मिलने वाले काजू को पहले उबाला जाता है जिससे उसमें पाया जाने वाला उरुशिओल नामक तत्व जो कि विषाक्त होता है, बाहर निकल जाये, क्योंकि कच्चे काजू में यह विषाक्त पदार्थ पहले से ही मौजूद होता है।

इसलिए कच्चे काजू को नही खाना चाहिए क्योंकि यह हमारी सेहत के लिए अच्छा नही होता है। बिना उबाले काजू खाने से एलर्जी की समस्या भी हो सकती है।

जायफल ( Nutmeg ) :-

जायफल का इस्तेमाल गरम मसाले के रूप में किया जाता है। ठंड के मौसम में लोग इसका ज्यादा इस्तेमाल करते है। लेकिन इसका थोड़ी मात्रा में ही इस्तेमाल करना सही होता है।

एक चम्मच से ज्यादा जायफल का सेवन शरीर के लिए नुकसानदेह होता है। जायफल में मिरिस्टिसीन नाम का  रसायन काफी ज्यादा मात्रा में पाया जाता है।

इस रसायन की वजह से चक्कर आना, सुस्ती होना, भ्रम होना, दौरे पड़ने जैसी समस्याएं देखने को मिलती है।

 मशरूम ( Mushroom ) : –

मशरूम खाने में स्वादिष्ट होने के साथ ही यह पौष्टिक भी होता है, इसलिए यह हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन मशरूम खरीदते समय इसकी पहचान होना बेहद जरूरी होती है।

मशरूम कई तरह के आते हैं। जंगली मशरूम को खाने से पेट दर्द, दस्त, उल्टी डिहाइड्रेशन जैसे समस्याएं देखने को मिलती है, साथ ही इनका लीवर पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

 कड़वे बादाम ( Bitter almonds ) :-

जब हम बाजार से बादाम खरीद कर ले आते हैं तो उन्हें कुछ बादाम ऐसे होते हैं जो कड़वे निकल जाते हैं।

कभी-कभी जब हमारे मुंह में कड़वा बादाम चला जाता है तब भी हम उसे निगल जाते हैं या फिर किसी व्यंजन में उनका इस्तेमाल करते हैं और तब हमें इसके बारे में पता भी नही चल पाता है।

दरअसल कड़वे बादाम में एमिगडलीन नाम का एक रसायन होता है। इसलिए कड़वे बादाम को खाने से पेट दर्द, उल्टी और दस्त की समस्या हो जाती है।

 कच्चा आम (Raw mango ) :-

बहुत से लोगों को कच्चा आम खाना पसंद होता है। नमक और मसाले लगाकर लोग बड़े चाव से कच्चे हम खाते हैं।

लेकिन बहुत कम ही लोग जानते हैं कि कच्चे आम के छिलकों और पत्तियों में विषाक्त पदार्थ पाया जाता है।

जिन लोगों को एलर्जी की समस्या होती है उन लोगों को कच्चे आम खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि कच्चे आम खाने से रैशेज और सूजन की समस्या हो सकती हैं।

स्टार फ्रूट ( Star froot ) :-

बहुत सारे लोग कमरख (स्टार फ्रूट) का अचार बना कर खाना पसंद करते हैं, वैसे तो इससे कोई परेशानी नही होती है।

लेकिन जिन लोगों को किडनी की बीमारी रहती है उन लोगों को स्टार फ्रूट खाने से बचना चाहिए, क्योंकि किडनी के खराब होने पर स्टार फ्रूट में पाए जाने वाले विषाक्त पदार्थ शरीर के अंदर ही रह जाते हैं और शरीर को धीरे-धीरे करके नुकसान पहुंचाने लगते हैं।

 चेरी के बीज ( Cherry seeds ) :-

चेरी फल खाने में स्वादिष्ट होता है। यह पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है। यह दिल की बीमारियों में भी बचाव करता है।

लेकिन चेरीखाते समय उसके बीजों को कभी नही चबाना चाहिए क्योंकि उसके बीजों में प्रुसिक एसिड पाया जाता है। यह विषैला होता है।

चेरी के बीजों को साबूत ही निगलने लेने से कोई नुकसान नही होता है क्योंकि यह शरीर के बाहर निकल जाता है, लेकिन इसके बीजों को चबाना सेहत के लिए नुकसानदेह होता है।

सेब के बीज ( Apple seeds ) :-

वैसे तो सेब खाते समय लोग इसके बीजों को हटाकर ही खाते हैं, लेकिन कभी कभी खाते समय गलती को निगल लेते हैं।

चेरी की तरह है सेब के बीज को भी सबूत निगल लेने से कोई नुकसान नही होता है, लेकिन यह गलती से भी इसे चबाना नही चाहिए।

सेब के बीज चबाना हमारे सेहत के लिए अच्छा नही है क्योंकि इसमें कुछ मात्रा में सायनाइड तत्व पाए जाते हैं और उसकी वजह से सांस लेने की समस्या से लेकर, दौरे पड़ने से की समस्या देखने को मिल सकती है।

यह भी पढ़ें :- चेहरे पर होने वाले मुहासे और अनचाहे बाल हो सकते हैं पीसीओडी के संकेत

इसलिए इन फलों को खाते समय सावधानी रखना बेहद जरूरी है।

food care

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *