आइए जानते हैं लेमनग्रास और उसके फायदे के बारे में

लेमनग्रास एक पौधा है जिसका इस्तेमाल औषधि के रूप में लोग करते हैं ज्यादातर घरों में लेमन ग्रास का इस्तेमाल चाय बनाने में किया जाता है इसमें नींबू के जैसे एक सुगंध निकलती है।

लेमनग्रास में एंटी बैक्टीरियल, एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीफंगल के गुण पाए जाते हैं जो कि स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में बेहद फायदेमंद है।

कैंसर जैसी घातक बीमारियों में भी लेमनग्रास बहुत फायदा होता है। चलिए जानते हैं क्या होता है लेमनग्रास और इसके क्या फायदे है –

लेमनग्रास ( Lemongrass) : –

लेमनग्रास एक तरह की घास है और यह काफी लंबी लंबी होती है। यह भारत सहित एशिया के कई देशों में व्यापक तौर से पाई जाती है।

इसका इस्तेमाल स्वास्थ्य लाभ के अलावा मच्छरों को भगाने के लिए भी किया जाता है। लोग मच्छर को भगाने के लिए भी अपने घरों में लेमनग्रास के पौधे को लगाते हैं।

स्वास्थ्य के फायदे ( Health benefits of Lemongrass in Hindi ) : –

  • लेमनग्रास में एंटीऑक्सीडेंट के गुण होने की वजह से यह पेट के सभी परेशानियों को दूर करने के साथ ही पाचन तंत्र को मजबूत करने का काम करता है। पेट की समस्या होने पर लेमनग्रास का इस्तेमाल करे। इसके लिए लेमनग्रास का काढ़ा, जूस या फिर चाय बना कर इसे इस्तेमाल किया जा सकता है।
  •  लेमनग्रास में कैंसर रोधी गुण भी होते हैं। जो लोग लेमनग्रास का नियमित तौर से सेवन करते हैं उनमें कैंसर होने का खतरा बेहद कम रहता है। इसके अलावा कैंसर की बीमारी में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है, क्योंकि एक शोध से पता चला है कि लेमनग्रास का सेवन करने से कैंसर सेल्स को खत्म करने किया जा सकता है।
  •  लेमनग्रास में एंटी बैक्टीरियल एंटी फंगल गुण की वजह से यह बुखार, सर्दी, खासी या फ्लू  में भी बहुत फायदेमंद है। सर्दी, खांसी, जुकाम होने पर लेमनग्रास टी चाय पीने से जल्दी आराम मिल जाता है।
  •  लेमनग्रास दिमाग के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इसमें फोलिक जैसे तत्व पाए जाते हैं जो कि नर्वस सिस्टम के लिए भी महत्वपूर्ण है और इससे दिमाग को तेज करने में मदद मिलती है।

इस तरह बनाये लेमन ग्रास का काढ़ा

( Recipe of lemon grass decoction in Hindi ) :-

दो कप लेमनग्रास का काढ़ा इस तरह बनाने के लिए लेमनग्रास, तुलसी पत्ती, काली मिर्च, लौंग की आवश्यकता होती है।

लेमनग्रास का काढ़ा बनाने के लिए इसकी दो तीन पत्तियों को ले कर बारीक बारीक काट ले, फिर चार कप पानी ले और उसमें तीन से चार काली मिर्च को डाल दें (या फिर छोटा आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर डालें), तीन से चार लौंग, अदरक का छोटा टुकड़ा कूट कर डाले, 10-12 तुलसी के पत्ते बारीक कटे कर या फिर कूट कर इन सब को पानी में डालकर गैर पर धीमी आंच पर पानी के आधा हो जाने तक उबाले । 

यह भी पढ़ें :- इन चीजों को खाते समय रखे ध्यान नहीं तो सेहत पर पड़ सकता है बुरा सर

इसके बाद इसमें दो चम्मच शहद या स्वाद के अनुसार थोड़ा सा गुण डालकर छान कर गरम-गरम ही पिये। इससे सर्दी जुखाम में जल्दी राहत मिल जाती है।

सिर्फ लेमनग्रास के 3-4 पत्ती को बारीक काट कर उसकी चाय बना कर भी पिया जा सकता है।

इसके अलावा चाय बनाने के दौरान भी इसकी एक दो पत्ती को चाय में डाला जा सकता है। इससे चाय का स्वाद भी बढ़ जाएगा और एक अलग ही खुशबू आएगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.