पीलिया को जड़ से खत्म करने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

बदलते मौसम के साथ कई बार लापरवाही की वजह से कई घातक बीमारियां घेर लेती है। भारत में बदलते मौसम के साथ विशेष करके बरसात में गर्मी से तो राहत मिल जाती है लेकिन बरसात के बाद मौसमी बीमारियों का दौर शुरू हो जाता है।

कुछ बीमारियां ऐसी होती है जो बिना बरसात के मौसम में भी हो सकती है और बरसात के मौसम में इन बीमारियों का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। इसमें से एक बीमारी है – पीलिया

पीलिया एक बेहद खतरनाक बीमारी है। इसमें बुखार आने के साथ-साथ आंख और त्वचा का रंग पीला होने लगता है। साथ ही पेट दर्द, भूख न लगने जैसे लक्षण भी देखने को मिलते हैं। ऐसे में जरूरी है कि समय रहते बीमारी का पता चल जाए। आज हम जानेंगे पीलिया के कुछ घरेलू उपाय के बारे में जिसके बारे में आयुर्वेद में बताया गया है।

मुलेठी

मुलेठी का इस्तेमाल लोग आवाज और गला को साफ करने के लिए करते हैं। मुलेठी में कैल्शियम, ग्लिसराइल एसिड, प्रोटीन, फैट, विटामिन बी, विटामिन ई जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

ऐसे में अगर पीलिया में मुलेठी का सेवन कराया जाता है तो यह स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसके लिए आप मुलेठी को पीसकर इसका चूर्ण बना सकते हैं और शहद के साथ मिलाकर इसका सेवन मरीज को कराएं।

साबुत धनिया

हरा धनिया हमारे खाने के स्वाद को बढ़ाता है और साबुत धनिया भी खाने के स्वाद को दुगना कर देता है। यह पीलिया रोग में भी फायदेमंद होता है। इसके लिए धनिया को पानी में रात भर भिगोकर रख दें और सुबह मरीज को इसका पानी पिला दे। ऐसा करने से पीलिया 2 सप्ताह के अंदर जड़ से खत्म हो जाती है।

मूली का रस

पीलिया के मरीजों के लिए मूली खाना काफी फायदेमंद होता है। आयुर्वेद में भी मूली के फायदे बताए गए हैं। मूली का रस पीलिया को जड़ से खत्म करने में काफी मददगार है।

इसके लिए आप मूली और मूली के पत्तों का रस निकालकर उसमें काला नमक डालकर मरीज को दे सकते हैं। ऐसा करने से मरीज का पाचन तंत्र ठीक ढंग से काम करेगा और पीलिया जल्दी से खत्म हो जाएगा।

नीम का रस

पीलिया के मरीजों के लिए नीम का रस रामबाण की तरह काम करता है। इसके लिए नीम की हरी पत्तियों को पीसकर उसका रस निकाल लें और नियमित रूप से पीलिया के मरीजों को कुछ दिन तक पिलाए। आप देखेंगे कि एक सप्ताह के अंदर आपको फर्क नजर आने लगेगा।

नींबू

पीलिया के मरीजों के लिए नींबू पानी फायदेमंद होता है। यह पेट को साफ करता है। पीलिया के मरीज को सुबह खाली पेट नींबू पानी पीना चाहिए। इसके अलावा पाइनएप्पल खाना भी फायदेमंद होता है। पाइनएप्पल में पेट को साफ करने के गुण पाए जाते हैं।

हल्दी

देश में कुछ लोगों को इस बात की गलतफहमी है कि हल्दी का रंग पीला होता है। इसलिए पीलिया में इसका सेवन नहीं करना चाहिए। लेकिन हल्दी एक anti-inflammatory, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीमाइक्रोबियल्स गुण से भरपूर है। पीलिया के मरीजों को हल्दी का सेवन कराना चाहिए। इससे पीलिया को जल्दी खत्म करने में मदद मिलती है।

आंवला

आंवले में विटामिन से पर्याप्त मात्रा में पाई जाती है। आंवले को कच्चा भी खाया जा सकता है और इसे सुखाकर भी खाया जा सकता है। इसके अलावा बाजार में आंवले के जूस भी उपलब्ध है। इनका भी प्रयोग किया जा सकता है। पीलिया के मरीजों के लिए आंवले के जूस का प्रयोग करना काफी फायदेमंद होता है।

नोट : यहां पर प्रकाशित यह लेख केवल जानकारी प्रदान करने के लिए है। यह बीमारी का इलाज नहीं है। अगर किसी मरीज में किसी भी प्रकार का लक्षण नजर आता है। तो सबसे पहले अपने डॉक्टर से संपर्क करें और डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही कोई भी घरेलू नुस्खा अपनाएं।

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.