फेफड़ों को मजबूत करने वाले घरेलू उपाय

फेफड़ा मानव शरीर का एक बेहद महत्वपूर्ण अंग माना जाता है। यह स्वसन तंत्र के माध्यम से शरीर के सभी अंगों तक ऑक्सीजन पहुँचाने का काम करता है। सेहतमंद रहने के लिए फेफड़े का स्वस्थ रहना बेहद जरूरी है।

फेफड़ा हवा से ऑक्सीजन को खींचता है और इससे खून के माध्यम से पूरे शरीर में पहुंचाने का काम करता है। साथ ही कार्बन डाइऑक्साइड को फिल्टर करने का काम भी करता है। आजकल के दौर में बढ़ते प्रदूषण, धूम्रपान और खानपान की गलत आदतें की वजह से फेफड़े स्वास्थ्य हो जाते हैं।

जिससे उनकी कार्यक्षमता प्रभावित होने लगती है और कई सारी गंभीर बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। इसमें प्रमुख रूप से अस्थमा, पलमोनरी, फाइब्रोसिस और सीटीओडी जैसी बीमारियां शामिल है।

कोरोना वायरस संक्रमण का सबसे ज्यादा असर फेफड़े पर ही पड़ता है। इसलिए लोगों को अपने फेफड़े की कार्य क्षमता को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है। अगर फेफड़ा स्वस्थ रहता है, तो बीमारियों से बचा जा सकता है।

फेफड़े को रखने के लिए प्राणायाम योगा किया जा सकता है। इसके अलावा कुछ घरेलू उपाय भी आजमाया जा सकता हैं। आज हम जानेंगे फेफड़े को स्वस्थ रखने के लिए और फेफड़े की कार्य क्षमता को बढ़ाने के लिए अपनाए जाने वाले कुछ घरेलू उपाय के बारे में।

योगा और एक्सरसाइज ( Yoga and exercise for lungs in Hindi ) :-

फेफड़े को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से एक्सरसाइज और योगा करना बेहद जरूरी है। फेफड़े को मजबूत रखने और कार्य क्षमता को सुधारने में योगा बहुत फायदेमंद होता है। फेफड़े को स्वस्थ रखने के लिए हस्त उत्तानासन, धनुआसन जैसे योगा किए जा सकते हैं। इन्हें फेफड़े की कार्य क्षमता को बढ़ाने के लिए अच्छा माना जाता है।

हल्दी ( Turmeric for Lungs in Hindi ) :-

हल्दी स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट, anti-inflammatory, एंटीसेप्टिक और एंटी फंगल गुण आते हैं। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार है। हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन नामक तत्व फेफड़े की कार्य क्षमता को बढ़ाता है। इसलिए अपने डाइट में हल्दी को जरूर शामिल करें।

सीताफल ( Cilantro for lungs in Hindi ) :-

सीताफल को लोग सब्जी के रूप में इस्तेमाल करते हैं। जिन लोगों का फेफड़ा धूम्रपान करने की वजह से खराब हो चुका होता है उनके लिए सीताफल खाना लाभदायक होता है।

सीताफल beta-carotene जैसे तत्व से भरपूर होता है। जिन लोगों को धूम्रपान की आदत है उन लोगों को अपनी डाइट में सीताफल को जरूर शामिल करना चाहिए।

ऑलिव आयल ( Olive Oil for Lungs in Hindi ) :-

ऑलिव ऑयल को स्वास्थ्य के लिए लाभकारी माना जाता है। यह पोलीफिनोल और विटामिन ई जैसे तत्वों से भरपूर होता है। यह तत्व फेफड़े की कार्य क्षमता को बेहतर करते हैं। ऑलिव आयल को डाइट में शामिल करने से स्वशन तंत्र बेहतर रहता है। ऑलिव आयल अन्य कई तरह से भी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

चुकंदर ( Beetroot for Lungs in Hindi ) :-

चुकंदर कई सारे पोषण तत्वों से भरपूर होता है। इसमें मैग्नीशियम, विटामिन, पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। चुकंदर में कैरोटीनॉयड नामक तत्व पाया जाता है, जो फेफड़े से बलगम को निकालने में मदद करता है। इसके अलावा चुकंदर शरीर में खून को बढ़ाता है और ऑक्सीजन की मात्रा को भी बढ़ाए का काम करता है। स्वशन तंत्र से जुड़ी बीमारियों में चुकंदर खाना बहुत फायदेमंद होता है।

टमाटर ( Tomato for Lungs in Hindi ) :-

फेफड़े के स्वास्थ्य के लिए टमाटर एक बेहतरीन घरेलू उपाय है। टमाटर में लाइकोपीन नामक एक तत्व होता है। यह फेफड़े को स्वस्थ रखने में मदद करता है। टमाटर का सेवन करने से फेफड़े की कार्य क्षमता में वृद्धि होती है।

यह भी पढ़ें :

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.