मांसपेशियों की कमजोरी दूर करने में कारागार है यह घरेलू नुस्खे

खराब खानपान और स्ट्रेस की वजह से मांसपेशियों में कमजोरी आना आज के समय में आम बात हो गई है। कई बार लोग अधिक वर्कआउट कर लेते हैं, जिसके वजह से भी मांसपेशियों में दर्द और कमजोरी की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

आमतौर पर दौड़ने वर्कआउट करने या व्यायाम करने के बाद मांसपेशियों मे होने वाला दर्द, थोड़ा आराम करने के बाद अपने आप ठीक हो जाता है। लेकिन अगर किसी को लगातार मांसपेशियों में दर्द और कमजोरी की समस्या है तो इसका मतलब यह है कि आपको मांसपेशियों की कमजोरी की समस्या हो गई है।

ऐसी स्थिति को नजरअंदाज करना हानिकारक हो सकता है। मांसपेशियों की कमजोरी की समस्या के पीछे कई कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। जिसमें शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी, अत्यधिक तनाव लेना, नींद से जुड़ी परेशानियां, डिहाइड्रेशन जैसे कारण शामिल है।

मांसपेशियों की कमजोरी इस बात का संकेत करती है कि आप को समय रहते अब खानपान में संतुलन लाने और नियमित रूप से व्यायाम करने की जरूरत है। वहीं कई बार यह भी देखा जाता है कि विटामिन डी की कमी की वजह से भी मांसपेशियों में कमजोरी आ जाती है। लगातार मांसपेशियों में दर्द और कमजोरी की समस्या से बचने के लिए आज हम जानेंगे कुछ घरेलू नुस्खे के बारे में।

मांसपेशियों में कमजोरी के प्रमुख लक्षण ( Symptoms of muscle weakness in Hindi ) :-

मांसपेशियों में कमजोरी होने पर शरीर में कुछ लक्षण दिखाई देते हैं। जो इस प्रकार से है-

  • मांसपेशियों में असहनीय दर्द होना,
  • मांसपेशियों में ऐंठन आना,
  • प्रभावित मांसपेशियों का कठोर हो जाना,
  • कुछ मामले में दर्द के साथ बुखार की समस्या,
  • सिर चकराने की समस्या,
  • सांस लेने में परेशानी होना,
  • मांसपेशियों में सूजन आदि।

मांसपेशियों की कमजोरी को दूर करने के लिए घरेलू नुस्खे ( Home remedies to get rid of muscle weakness in Hindi ) :-

मांसपेशियों से जुड़ी किसी भी समस्या के लिए डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए और इलाज करवाना चाहिए, लेकिन अगर यह समस्या हाल के ही दिनों में शुरू हुई है तो कुछ घरेलू नुस्खे अपनाए जा सकते हैं।

इन घरेलू नुस्खे से इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है। विशेषकर के घरेलू नुस्खे के द्वारा मांसपेशियों के दर्द, ऐठन और कमजोरी में काफी लाभ मिलता है।

यूकेलिप्टस ऑयल का इस्तेमाल

मांसपेशियों की कमजोरी में यूकेलिप्टस का आयल बहुत फायदेमंद माना जाता है। यूकेलिप्टस की पत्तियों का इस्तेमाल करके तेल निकाला जाता है और इस तेल का इस्तेमाल जोड़ो के दर्द, मांसपेशियों से जुड़ी समस्याओं में किया जा सकता है।

मांसपेशियों में दर्द और उल्टी की समस्या से राहत दिलाने में यूकेलिप्टस ऑयल को बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। यूकेलिप्टस के तेल में anti-inflammatory का गुण पाया जाता है। यह मांसपेशियों में सूजन और दर्द में आराम पहुंचाता है।

यूकेलिप्टस ऑयल मांसपेशियों की कमजोरी को दूर करता है। इसके लिए यूकेलिप्टस ऑयल की थोड़ी सी मात्रक को नारियल के तेल में मिलाकर प्रभावित मांसपेशियों पर मालिश की जाती है और कुछ दिन में असर दिखने लगता है।

एप्पल साइडर विनेगर

एप्पल साइडर विज्ञान में anti-inflammatory के गुण पाए जाते हैं। इस वजह से यह मांसपेशियों की कमजोरी दूर करने में बहुत लाभदायक होता है। एक शोध के अनुसार मांसपेशियों की समस्या में सेब के सिरके अर्थात एप्पल साइडर विनेगर बहुत ही लाभकारी है।

इसमें इन anti-inflammatory गुण के साथ पोटेशियम, कैल्शियम, विटामिन बी, जैसे तत्व पाए जाते हैं। शरीर में पोटेशियम की कमी की वजह से भी मांसपेशियों में कमजोरी आ जाती है।

दर्द और सूजन को कम करने में साथ ही मांसपेशियों को मजबूत करने में एप्पल साइडर वैगनर बहुत ही लाभकारी होता है। इसके लिए एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर को एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर रोजाना एक गिलास पानी में दो बार सेवन करें। असर कुछ ही दिन में नजर आने लगेगा।

कलौंजी का तेल

कई सारी समस्याओं में कलौंजी के तेल का इस्तेमाल किया जाता है। मांसपेशियों की कमजोरी में भी इसका इस्तेमाल लोग करते हैं। कलौंजी के तेल में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो दर्द सूजन और दर्द में बहुत लाभ पहुंचाते हैं।

रोजाना कलौंजी के तेल से मालिश करने से मांसपेशियां मजबूत होती हैं। मालिश करने के एक घंटे तक इसे लगा रहने दें और फिर इसे साफ पानी से धो लें। कुछ दिन में मांसपेशियों में होने वाला दर्द गायब हो जाएगा।

आंवले का सेवन

मांसपेशियों की कमजोरी को दूर करने में आंवले का सेवन करना काफी लाभदायक होता है। आंवले में कैल्शियम, विटामिन, प्रोटीन और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। मांसपेशियों से जुड़ी समस्या से बचने के लिए रोजाना आंवले का सेवन करें। आंवले का सेवन कई तरह से किया जा सकता है, जैसे अचार, मुरब्बा आदि।

मांसपेशियों की कमजोरी से बचने के उपाय ( Ways to avoid muscle weakness in Hindi ) :-

  • पोषण युक्त खानपान रखे
  • नियमित रूप से एक्सरसाइज और व्यायाम करें।
  • अत्यधिक एक्सरसाइज और व्यायाम करने वाले लोग मांस पेशियों को थोड़ा आराम दे।
  • हेवी एक्सरसाइज वाले वार्मअप या स्ट्रेच जरूर करें।
  • रोजाना वॉक करें भारी सामान उठाने से बचें समस्या बढ़ने पर डॉक्टर से सलाह लें।

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.