मूली और इसके पत्ते खाने के फायदे

आइए जानते हैं मूली और इसके पत्ते खाने के फायदे के बारे में:-

मौसम के साथ-साथ हमारे खान-पान मे भी बदला होता है। सर्दियों के मौसम में यह बदलाव ज्यादा देखने को मिलता है। गर्मियों में हम गर्म खाना खाने से बचते हैं लेकिन सर्दियों के मौसम में गर्म खाना पसंद करते हैं।

सर्दियों के मौसम में कई तरह के फल और सब्जियां मिलने लगती हैं जो हमारे सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें से एक सब्जी है मूली। मूली का सेवन करने से सर्दी जुकाम जैसी समस्याएं नही होती हैं।

इसके अलावा अन्य दूसरी बीमारियों से बचने के लिये भी मूली का सेवन करना चाहिए। आज हम जानेंगे मूली और Radish leaves के फायदे के बारे में।

बता दें कि ज्यादातर लोग मूली तो खा लेते हैं लेकिन उसके पत्ते को फेंक देते हैं, लेकिन मूली की तरह ही इसके पत्ते भी बहुत फायदेमंद और पोषण से भरपूर होते हैं।

मूली से ज्यादा Radish leaves फायदेमंद होता है क्योंकि मूली के पत्तों में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी, फास्फोरस, आयरन, क्लोरीन, सोडियम, मैग्निशियम जैसे तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं।

इसका सेवन पेट के लिए बहुत लाभकारी होता है। जिन लोगों को पाचन और मूत्र विकार से संबंधित समस्याएं होती हैं उनके लिए यह बेहद फायदेमंद होता है।

मूली के पत्तों को सब्जी बनाकर या फिर ऐसे ही कच्चा खाया जा सकता है। इससे शरीर को कई तरह से लाभ मिलता है।

मूली के साथ मूली के पत्तों का सेवन करने पर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है और जल्दी थकान नही महसूस होती है।

बवासीर के रोगियों को Radish leaves का सेवन करना चाहिए जो उनके लिए बहुत फायदेमंद होता है। अगर बवासीर के मरीज रोजाना मूली के पत्ते का सेवन करते हैं तब कुछ समय बाद उनकी यह समस्या जड़ से खत्म हो सकती है।

मूली के पत्ते में फास्फोरस और आयरन भरपूर मात्रा में होता है, जो कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मददगार होती है।

डायबिटीज के मरीजों के लिए भी मूली का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। Radish leaves में पाया जाने वाला गुण ब्लड शुगर के लेवल को कम करने में मददगार होता है। डायबिटीज के मरीज मूली के पत्तों का सेवन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें :- बालों और त्वचा के लिए इस तरह करें भिंडी का इस्तेमाल

Radish leaves का सेवन ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए भी फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें सोडियम होता है और यह शरीर में नमक की कमी को पूरा करता है।

इसलिए सर्दियों के मौसम में मूली के साथ मूली के पत्तों का भी सेवन करने की सलाह स्वास्थ्य विशेषज्ञ देते हैं।पीलिया की समस्या में मूली का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।

पीलिया होने पर मूली के पत्तों को अच्छी तरीके से साफ करके उन्हें क्रश कर लें और पतले कपड़े से इसका अर्क निकालने और रोजाना आधा लीटर इसे 10 दिन तक सेवन करें तो पीलिया अपने आप ही ठीक हो जाता है।

Radish leaves का सेवन करने से बाल झड़ने की समस्या में भी आराम मिलता है। जिन लोगों का बाल झड़ रहा हो, उन्हें भी मूली के पत्तों का सेवन कर के इसका जादुई फायदा देखना चाहिए।

radish

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.