गर्भावस्था देखभाल: अधिक जोखिम वाली गर्भावस्था के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां

Pregnancy:

मां बनना हर औरत की ख्वाहिश होती है। एक बच्चे को जन्म देने का विचार जितना अद्भुत लगता है, वह उतना ही जोखिम भरा है। वही यह कुछ महिलाओं के लिए यह आसान होता है।

लेकिन उच्च जोखिम वाली श्रेणियों में जो महिलाएं आती हैं, उनके लिए यह बड़ी चिंता का विषय बना सकते हैं। ऐसे में एक सुरक्षित गर्भावस्था सुनिश्चित करने और एक स्वस्थ बच्चा पैदा करने के लिए आवश्यक उपाय करना महत्वपूर्ण है।


उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था क्या है?


जब बच्चे के जन्म से जुड़ी कुछ संभावित जटिलताएं होती हैं, जो न केवल बच्चे के लिए, बल्कि मां को भी खतरा उत्पन्न करे, इसे एक उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था माना जाता है।

गर्भावस्था एक महिला के शरीर पर असर डालता ही है यह मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों को भी ट्रिगर कर सकती है। एक उच्च जोखिम वाली
गर्भावस्था निदान कुछ जीवनशैली में बदलाव की जरूरत रहती है।


अगर मां उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था का खतरा है तो आपको कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए। अच्छी तरह से जानकारी रहें सबसे पहले जब गर्भावस्था की बात आती है, तो यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि आप सतर्क रहें।

लेकिन आप जो कुछ भी ऑनलाइन पढ़ते हैं या अपने निकट और प्रियजनों से सुनते हैं, उस पर भी पूरा विश्वास न करें। सत्ही व तथ्यात्मक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से मिलें और ऐसे प्रश्न पूछें जो आपको लगता है कि आपके और आपके अजन्मे बच्चे के लिए महत्वपूर्ण हैं।


अपने आप को सहायक लोगों के साथ घेरें गर्भावस्था के दौरान आपका मन और शरीर बेचैन महसूस कर सकता है। विशेष रूप से जब आपको उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था का पता चलता है, तो यह आपको तनाव और चिंता की स्थिति में डाल सकती है।


इसलिए ऐसी स्थितियों में आपको अपने आप को सकारात्मक लोगों के साथ रहना चाहिए। गर्भावस्था एक लंबी 9 महीने की प्रक्रिया है। हालांकि यह महत्वपूर्ण है कि आप सुरक्षित गर्भावस्था सुनिश्चित करने के लिए प्रक्रिया पर भरोसा करें। अपने चिकित्सक और अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ पर विश्वास करें और ऑनलाइन सलाह का सहारा लेने से बचें।


स्वस्थ आहार पर ध्यान दे :-


यह देखते हुए कि आपको उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था का पता चला है, यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने आहार पर नियंत्रण रखें। एक स्वस्थ आहार एक स्वस्थ जीवन शैली की कुंजी है। उच्च वसा वाले आहार और चीनी से भरपूर खाद्य पदार्थ खाने से बचें। गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप के मामले में नमक का सेवन सीमित करें।


नियमित शारीरिक गतिविधि जरूरी है


व्यायाम, योग और किसी भी प्रकार की शारीरिक गतिविधि आपके मन और शरीर को स्वस्थ रख सकती है। गर्भावस्था के दौरान भी एक छोटी नियमित सैर या साधारण प्रसवपूर्व व्यायाम आपकी गर्भावस्था की प्रक्रिया को आसान बनाने में मदद कर सकते हैं। अपने डॉक्टर से परामर्श करना याद रखें और उसी के लिए उनकी सलाह लें।


तनाव और अपनी चिंता स्तर को कम करें


गर्भावस्था कठिन हो सकती है। यह बहुत अधिक तनाव और चिंता पैदा कर सकता है। लेकिन उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था में आपको अपनी चिंता के स्तर को कम करना। नकारात्मक विचारों को अपने दिमाग में न आने दें और अपने साथी या अपने प्रियजनों के साथ बातचीत करना सीखें।

यह भी पढ़ें :–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *