किस तरह जाने कमजोर immunity ke lakshan

कोरोना वायरस (COVID 19)  महामारी के दौर में सबसे ज्यादा जिस बात पर ध्यान लोग दे रहे हैं वह है हमारी प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी)। क्योंकि इम्यूनिटी ही हमें किसी भी संक्रामक बीमारी से बचा सकती है।

इम्यूनिटी मजबूत होने पर मानव शरीर कई तरह की बीमारियों से बच जाता है। अगर इम्यूनिटी मजबूत होती है तो फेफड़े, किडनी, लीवर के संक्रमण के अलावा कई अन्य दूसरी गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है।

 पहले लोग इम्यूनिटी पर अपना ध्यान नहीं देते थे लेकिन कोरोना वायरस महामारी के दौर में लोग सतर्क हो गए हैं। अब लोग अपनी इम्यूनिटी के बारे में ध्यान दे रहे हैं। ऐसे में सबसे अहम सवाल ये है कि आखिर हम अपने कमजोर इम्यूनिटी की पहचान कैसे करें आइए जानते हैं कमजोर इम्यूनिटी के लक्षणों के बारे में –

बार बार बीमार होना –

अगर आप बार-बार बीमार पड़ रहे हैं या ज्यादातर समय बीमार रहते हैं तो यह कमजोर होने का लक्षण है। अगर आपको कमजोरी लगातार महसूस हो रही है तब भी यह आपकी कमजोर प्रतिरोधक क्षमता का लक्षण है। वैसे सामान्य रूप से बदलते मौसम के साथ सर्दी बुखार जुखाम की समस्या आम है लेकिन यह भी कमजोर इम्युनिटी की तरफ संकेत करती है।

थकान या आलस महसूस होना –

अगर आपको हर वक्त थकान या आलस महसूस होती है, शरीर में दर्द रहता है। तब यह आपकी कमजोर इम्यूनिटी का एक लक्षण है। अगर आप सुबह उठने के बाद भी फ्रेश महसूस नही करते हैं और दिन भर आपका एनर्जी लेवल कम रहता है तब यह कमजोर इम्युनिटी का लक्षण है।

घाव भरने में समय लगना –

जब शरीर में किसी चोट की वजह से घाव हो जाता है और उस घाव को भरने में अन्य लोगों की तुलना में ज्यादा समय लग रहा है तो यह आपकी कमजोर इम्युनिटी को प्रदर्शित कर रहा है।

जिन लोगों की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है उनमें चोट लगने की वजह से होने वाले घाव जल्दी भर जाते हैं। और उन पर जल्दी सूखी पपड़ी बन जाती है। लेकिन अगर घाव पर जल्दी पपड़ी नहीं बनती है तब यह कमजोर यूनिटी की तरफ इशारा कर रही है।

पेट से जुड़ी समस्या –

अक्सर देखा जाता है कि जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है उनका पाचन तंत्र भी सही ढंग से काम नहीं करता है। ऐसे लोगों में दस्त, गैस बनना, पेट में सूजन और कब्ज की शिकायत ज्यादातर समय बनी रहती है।

इसके अलावा ऐसे लोगों में चिड़चिड़ापन भी अधिक देखने को मिलता है। अगर आपने भी यह सारे लक्षण नजर आ रहे हैं तो यह आपकी कमजोर इम्युनिटी को दर्शाते हैं।

अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहिए और इस तरह के लक्षणों को नजरअंदाज न कीजिये। अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए शारीरिक गतिविधियों के अलावा योग और स्वस्थ खान-पान पर विशेष ध्यान दें। जंक फूड या अनहेल्दी खाने से परहेज करें जो स्वास्थ्य के लिए नुकसान दे हो।

विशेष रूप से मैदे और जंक फूड से परहेज करें। क्योंकि यह स्वास्थ्य के लिए अच्छे नही होते हैं। एक स्वस्थ जीवन शैली, अच्छे स्वास्थ्य में मददगार होती है।

वही गलत जीवनशैली और अनहेल्दी फूड का असर हमारी सेहत पर नकारात्मक रुप से पड़ता है और इससे हमारा इम्यून सिस्टम भी प्रभावित होता है। नतीजा हम जल्दी जल्दी बीमार पड़ते है।

यह भी पढ़ें :– अनार का जूस दिमाग को तेज करने के अलावा इसलिए भी है फायदेमंद

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.