ठंड में अर्थराइटिस के दर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

ठंड का मौसम अर्थराइटिस से पीड़ित मरीजों के लिए काफी मुश्किल भरा होता है। ठंड के मौसम में जब सर्द हवाएं चलती हैं तो जोड़ों में दर्द होता है। आर्थराइटिस से पीड़ित मरीजों में यह दर्द कई बार असहनीय हो जाता है।

ठंड में अर्थराइटिस से पीड़ित उम्रदराज लोगों को ही नहीं बल्कि युवाओं को भी काफी परेशानी होती है। अक्सर जब तापमान में अचानक से गिरावट आती है तो घुटनों की हड्डियों में सूजन की समस्या हो जाती है।

जिसकी वजह से चलने फिरने छोटे-छोटे काम करने में काफी मुश्किल होती है। दवा और ट्रीटमेंट से इसका इलाज तो किया जा सकता है। पर जो लोग अर्थराइटिस से पीड़ित है या इस तरह के दर्द से जूझ रहे होते हैं उनके लिए दवा के अलावा भी कुछ ऐसे टिप्स है जिनको फॉलो करके सर्दियों के मौसम में अर्थराइटिस के दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है।

स्वस्थ रहने के लिए तापमान और मौसम के हिसाब से खुद को ढालना बेहद जरूरी होता है। अगर ठंड के मौसम में आप भी जोड़ों के दर्द की समस्या से परेशान हैं तो नीचे बताए गए टिप्स काफी फायदेमंद साबित हो सकती हैं।

एक्टिव रहें

ठंड के मौसम में कई बार जकड़न की समस्या देखने को मिलती है। ऐसे में एक्सरसाइज करना और भी ज्यादा चुनौतीपूर्ण हो जाता है। साथ ही बहुत सारे लोगों का यह भी मानना है कि एक्सरसाइज करने से जोड़ों के दर्द की समस्या बढ़ सकती है। अगर दर्द ज्यादा दिन तक रहता है तो शारीरिक गति को बनाए रखने से अपने आप लचीले और ऊर्जा से भरी रहेगी। किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होगी।

हीट थेरेपी

ठंड के मौसम में जोड़ों के दर्द की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए हीट थेरेपी काफी फायदेमंद हो सकती है। इसमें खून को गर्माहट देकर दर्द को कम करने में मदद मिलती है। सर्दियों के मौसम में आर्थराइटिस से पीड़ित मरीजों को खुद को गर्म रखना जरूरी है।

इसके लिए हीट थेरेपी का सहारा ले सकते हैं। इसके लिए एक टब में गर्म पानी डालकर अपने पैरों को कुछ देर तक डुबाए रखें या फिर पैरों को गर्म रखने वाले मोजे आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे दर्द से राहत मिलती है।

वजन कम करना

शरीर का वजन जब अधिक होता है अर्थात शरीर जब भारी-भरकम आसान का होता है तो इसका सारा भर घुटनों और कूल्हों पर ही पड़ता है। ऐसे में वजन अधिक होने की वजह से जोड़ों पर अधिक बाहर पड़ता है और दर्द की समस्या बढ़ जाती है।

इसलिए अगर आपका वजन अधिक है तो सबसे पहले अपने वजन को कम करने की कोशिश करें। इससे चलने में आसानी होगी। साथ ही आर्थराइटिस के दर्द को भी कम करने में मदद मिलेगी।

मसाज का सहारा ले

 5 जून 2015 में द जनरल आफ अल्टरनेटिव एंड कंप्लीमेंट्री मेडिसिन में एक शोध प्रकाशित किया गया था। जिसमें कहा गया था कि कम से कम सप्ताह में एक बार लगातार 8 सप्ताह तक मालिश करने से जोड़ों के दर्द की समस्याओं से राहत मिल जाती है। इससे मांसपेशियों को भी काफी आराम मिलता है और दर्द कम हो जाता है।

बॉडी को हाइड्रेट रखें

सर्दियों के मौसम में बहुत सारे लोग कम पानी पीने लगते हैं। यह स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है। सर्दियों के मौसम में भी पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। क्योंकि सर्दियों के मौसम में शरीर को हाइड्रेट रखना जरूरी होता है। मौसम शुष्क होने में ज्यादा नमी और मास्टरशाइजर की जरूरत पड़ती है।

अगर आप अधिक मात्रा में पानी नहीं पी सकते हैं तो गर्म सुपर या फिर जूस का सेवन करें। चाय और कॉफी पर काफी मददगार होते हैं। एक दिन में कम से कम 8 गिलास पानी सर्दियों के मौसम में भी पीने की कोशिश करें। इससे आर्थराइटिस के दर्द को सामान्य करने में मदद मिलेगी और दर्द से बचा जा सकेगा।

नोट लेख में बताई गई सलाह और सुझाव केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य से बताया गया है। यह बीमारी का इलाज नहीं है। समस्या होने पर डॉक्टर से सलाह लें। इसे चिकित्सीय सलाह के रूप में नहीं समझे।

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.