डायबिटीज के मरीजों में साइलेंट चेस्ट पेन हो सकता है हार्ट अटैक का संकेत आइए जाने इससे बचने के उपाय के बारे में

आज के भाग दौड़ भरी जिंदगी में लोगों का खान-पान काफी असंतुलित हो गया है। इस खराब जीवनशैली का असर स्वास्थ्य पर भी देखने को मिल रहा है। लाखों की संख्या में लोग हार्ट डिजीज और डायबिटीज जैसी बीमारियों से पीड़ित हैं।

खराब जीवनशैली की वजह से ही आज कम उम्र में लोग इन समस्याओं के शिकार होते चले जा रहे हैं। चाहे वह खिलाडी हो, सेलिब्रिटी हो या फिर सामान्य इंसान, ऐसे लोगों को भी हार्टअटैक जैसी समस्याएं हो रही है और लोग अपनी जान गवा रहे हैं।

हार्ट अटैक के पीछे कई कारण जिम्मेदार होते हैं। जिसमें सबसे बड़ा कारण है खान-पान। खानपान से लेकर दिल से जुड़ी कुछ बीमारियां ही हार्ट अटैक का कारण बनती हैं।

इसके अलावा डायबिटीज जैसे क्रॉनिक डिजीज भी हार्ट अटैक के खतरे को बढ़ाने का काम करती है। डायबिटीज से समस्त पीड़ित लोगों में साइलेंट चेस्ट पेन अर्थात सीने में दर्द होना हार्टअटैक का एक प्रमुख लक्षण हो सकता है। आइए जानते हैं इस समस्या के बारे में विस्तार से

डायबिटीज की समस्या में हार्ट अटैक ( Heart attack in diabetes in Hindi ) :-

डायबिटीज एक क्रॉनिक डिजीज होती है। यह खानपान और खराब जीवनशैली की वजह से लोगों को अपना शिकार बनाती है। शरीर में मौजूद ब्लड शुगर का लेवल डायबिटीज में अनियंत्रित हो जाता है और इसे डायबिटीज कहा जाने लगता है।

इस बीमारी से पीड़ित लोगों में ब्लड शुगर अर्थात रक्त शर्करा के स्तर में असंतुलन पाया जाता है। डायबिटीज की समस्या की वजह से शरीर में पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का निर्माण नहीं हो पाता है। कुछ लोगों में इसका सही ढंग से इस्तेमाल न हो पाने की वजह से भी ब्लड शुगर तेजी से बढ़ने लगता है और लोग डायबिटीज के शिकार हो जाते हैं।

 डायबिटीज के मरीजों में ज्यादातर साइलेंट हार्ट अटैक की समस्या देखने को मिलती है। उन्हें सबसे ज्यादा साइलेंट हार्ट अटैक का खतरा रहता है। ऐसे मरीज जो काफी लंबे समय से डायबिटीज से पीड़ित है उनके सीने में हल्का दर्द होना सामान्य लक्षण नहीं है। ऐसे लोगो के साइलेंट चेस्ट पेन भी हार्ट अटैक का लक्षण भी हो सकता है

साइलेंट चेस्ट पेन क्या है? ( What is silent chest pain in Hindi ) :-

 डायबिटीज से पीड़ित मरीजों के साथ साथ जिन लोगों को हार्टअटैक की समस्या होती है उनके शरीर में सबसे पहले कई तरह के लक्षण देखने को मिलते हैं। लेकिन साइलेंट हार्ट अटैक के समय यह लक्षण आसानी से समझ में लोगों के नहीं आते।

डायबिटीज की समस्या में इंसान के शरीर में मौजूद ब्लड शुगर अनियंत्रित रहता है। ऐसे में लोगों को कई बार पेशाब जाना, वजन का बढ़ना या घटना, हाई ब्लड प्रेशर जैसी समस्याएं देखी जाती है।

ठीक इसी तरह से जब डायबिटीज के मरीजों में हार्ट अटैक का खतरा बढ़ता है तब उसे साइलेंट चेस्ट पेन कहते हैं। साइलेंट चेस्ट पेन एक ऐसी स्थिति है जिसे मरीज के बारे में सही से अंदाजा लगाना काफी मुश्किल होता है।

ऐसे में मरीज के सीने में हल्का दर्द होता है, साथ ही सांस लेने में परेशानी होती है। सांस लेने में थोड़ी समस्या, सीने में हल्का सा दर्द हार्ट अटैक का लक्षण हो सकता है या फिर किसी गंभीर समस्या का क्या लक्षण है।

इसका अंदाजा लगाना मुश्किल होता है। ऐसे में समय पर सही इलाज न मिल पाने की वजह से ऐसे मरीजों की हार्ट अटैक की वजह से मृत्यु हो जाती है।

साइलेंट चेस्ट पेन की वजह से हार्ट अटैक से बचाव के उपाय ( Measures to prevent heart attack due to silent chest pain in Hindi ) :-

 डायबिटीज की समस्या से पीड़ित मरीजों को अपने खान-पान और लाइफस्टाइल पर विशेष ध्यान देना चाहिए। उन्हें संतुलित मात्रा में और नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम करना चाहिए।

डायबिटीज की समस्या से होने वाले जोखिम हल्के व्यायाम से कम हो जाते हैं। डायबिटीज के मरीज हॉस्पिटल के जोखिम से बचने के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रख सकते हैं

  • डायबिटीज के मरीज हार्ट अटैक से बचने के लिए अपने डाइट में कार्बोहाइड्रेट और फैट की मात्रा को कम कर ले ।
  • साइलेंट हार्ट अटैक से बचने के लिए डायबिटीज के मरीजों को चाहिए कि वे अपने डाइट में पर्याप्त मात्रा में विटामिंस और मिनरल्स का सेवन करें।
  •  ऐसे मरीजों को नियमित रूप से हल्का व्यायाम जरूर करना चाहिए।
  •  नियमित रूप से ब्लड शुगर और हार्ट की जांच कराते रहना चाहिए

ऊपर बताए गए कुछ उपायों को अपनाकर साइलेंट हार्ट अटैक की समस्या से काफी हद तक बचा जा सकता है। साइलेंट चेस्ट पेन के लक्षण दिखने पर तुरंत चिकित्सक से संपर्क करके समस्या का निदान करना चाहिए। सीने में हल्का दर्द या सांस लेने में तकलीफ, सीने में जलन जैसी समस्याएं होने पर जोखिम से बचने के लिए तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें :–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.