कोरोना से ठीक होने के बाद भी बनी हुई है कमजोरी और शारीरिक थकान इस तरह से करें दूर

देखा जा रहा है कि कोरोना वायरस स्व रिकवरी के दौरान लोगों को शारीरिक कमजोरी और थकान की शिकायत हो रही है। आज हम कुछ ऐसे आसान उपाय के बारे में जानेंगे जिसकी मदद से कोरोना से रिकवर होने के बाद भी कमजोरी और थकान को दूर करने में मदद मिलेगी।

सबसे पहले थकान को दूर करने के लिए हेल्दी डाइट के अलावा कुछ सप्लीमेंट भी लिए जा सकते हैं। कई शोध में यह बताया गया है कि यह सप्लीमेंट्स लॉग कोविड से निजात दिलाने में मददगार होते हैं।

कोरोना वायरस से पॉजिटिव 70% मरीजों में थकान और कमजोरी की शिकायत पाई जा रही है। कोरोना वायरस के नए लक्षणों से पता चलता है कि डॉक्टर और हेल्थ एक्सपर्ट इस तरह से इलाज कर रहे हैं। सेलिब्रिटी नूट्रिशनिस्ट पूजा मखीजा से जानेंगे थकान और कमजोरी को दूर कर दो कि कुछ टिप्स के बारे में

Symptoms of post COVID fatigue :-

अगर कोरोना वायरस से रिकवरी के बाद आराम करने के बाद भी थकान व कमजोरी लगती है तो यह पोस्ट कोरोना वायरस का लक्षण हो सकता है।

पोस्ट कोविड-19 में  थकान और कमजोरी के कारण याददाश्त कमजोर होना भी देखा जा रहा है। पोस्ट कोविड-19 में थकान और कमजोरी लगती है तो चीजों को याद रखने में भी परेशानी उत्पन्न हो सकती है। अचानक से होने वाला मसल्स पेन या ज्वाइंट पेन भी थकान का कारण बन सकता है।

ऐसे दूर होगी थकान और कमजोरी :-

न्यूट्रीशनिस्ट पूजा मखीजा के अनुसार यदि आपको कोरोना वायरस हुआ है और रिकवरी के बाद ज्यादा थकान महसूस हो रही है और यह ठीक नहीं हो रही है तो आप इसके लिए कुछ सप्लीमेंट्स की मदद ले सकते हैं।

कोरोना के बाद थकान और कमजोरी को दूर करने में ओमेगा 3 फैटी एसिड का सेवन किया जा सकता है। इससे शरीर में एनर्जी का लेवल बढ़ता है।

1 से 2 माह तक ओमेगा कि 1000mg की टेबलेट ले सकते हैं। इसके अलावा coenzyme Q10 भी लिया जा सकता है। मालूम हो कि यह एक ऐसा एंजाइम है जो शरीर की एनर्जी सेल में पाया जाता है। इस एंजाइम को ब्रोकली, फिश, मीट पालक होल ग्रेन से पाया जा सकता है।

COVID से रिकवरी के बाद थकान और कमजोरी को कैसे दूर करे ?

  • थकान और कमजोरी को दूर करने के लिए ज्यादा से ज्यादा फाइबर युक्त डाइट का सेवन करें।
  •  फ्रूट्स और वेजिटेबल में ढेर सारा फाइबर पाया जाता है। उनके सेवन से शरीर में एनर्जी मिलती है।
  •  प्रोटीन रिच डाइट का सेवन करें जिससे डाइजेशन बेहतर रहता है और जल्दी रिकवर करने में मदद मिलती है।
  •  रेस्पिरेट्री डिजीज को ठीक करने के लिए सबसे बेहतर तरीका है स्टीम ले।
  • हर दिन 8 गिलास पानी का सेवन करें और खुद को हाइड्रेट रखें।
  •  समय-समय पर ऑक्सीजन लेवल की जांच करते रहे। ऑक्सीजन लेवल कम होने पर भी थकान महसूस होती है।
  •  पोस्ट कोविड-19 रिकवरी के बाद भी दूसरों से दूरी बनाए रखें क्योंकि ऐसे में इम्यूनिटी वीक होने की वजह से दोबारा संक्रमण होने का खतरा रहता है। इस वजह से भी थकान महसूस हो सकती है।
  •  इसलिए खुद को सुरक्षित रखें थकान और कमजोरी बढ़ने पर लापरवाही न करें और नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर अपना चेकअप जरूर करवाएं।

यह भी पढ़ें :

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.